खेल जगत

लतीफ का मानना है BCCI की सबसे बड़ी गलती, विराट को ODI कप्तानी से हटाना था गलत

कप्तानी विवाद के बाद टीम इंडिया के प्रदर्शन को लेकर तमाम तरह के सवाल खड़े हो रहे हैं। पाकिस्तान के पूर्व कप्तान राशिद लतीफ का मानना है

कप्तानी विवाद के बाद टीम इंडिया के प्रदर्शन को लेकर तमाम तरह के सवाल खड़े हो रहे हैं। पाकिस्तान के पूर्व कप्तान राशिद लतीफ का मानना है कि भारतीय क्रिकेट टीम में कप्तानी विवाद से उसके ब्रांड पर कोई असर नहीं पड़ेगा। लतीफ का मानना है कि टीम इंडिया के पास मजबूत बेंच स्ट्रेंथ है और इसके अलावा भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) वित्तीय रूप से काफी मजबूत है। बीसीसीआई ने हाल में विराट कोहली को वनडे इंटरनेशनल टीम के कप्तान के रूप में हटा दिया और बाद में इस स्टार बल्लेबाज ने टेस्ट टीम की कप्तानी भी छोड़ दी। वह पहले ही टी20 टीम की कप्तानी छोड़ चुके हैं। लतीफ ने कहा कि बीसीसीआई ने इस पूरे विवाद को सही से हैंडल नहीं किया। हाल के समय में जो विवाद हुए उन्होंने भारतीय क्रिकेट की खराब तस्वीर पेश की। हालांकि लतीफ ने कहा कि इसमें से किसी भी चीज का भारतीय क्रिकेट पर असर नहीं पड़ना चाहिए। लतीफ ने ‘क्रिकेट बाज’ यूट्यूब चैनल से कहा, ‘आईपीएल में उनका मजबूत आधार है और अब भारतीय क्रिकेट वित्तीय रूप से काफी मजबूती से स्थापित हो चुका है इसलिए मुझे नहीं लगता कि हाल में जो हुआ उसका ब्रांड के रूप में भारतीय क्रिकेट पर कोई असर पड़ना चाहिए।’ उन्होंने कहा, ‘मुझे लगता है कि अब काफी कुछ इस पर निर्भर करेगा कि रोहित शर्मा टीम को कैसे चलाते हैं, लेकिन उनका टीम की अगुआई करने का अपना तरीका है और आईपीएल में मुंबई इंडियन्स के साथ उन्होंने पहले ही काफी कुछ हासिल किया है।’ पाकिस्तान के इस पूर्व कप्तान ने कहा, ‘यह देखना होगा कि वह टेस्ट में कप्तानी को लेकर कितने प्रेरित होंगे। कोहली अपनी कप्तानी और टीम में एनर्जी लेकर आते हैं।’ लतीफ को हालांकि लगता है कि बीसीसीआई ने कोहली को वनडे टीम के कप्तान के रूप में हटाकर गलती की। उन्होंने कहा, ‘मुझे लगता है कि यह चीजों से गलत तरीके से निपटने का मामला है और अब पुरानी चीजों पर लौटने का भी कोई मतलब नहीं। इन चीजों से गुजरने के कारण अपने निजी अनुभव से मुझे लगता है कि ऐसी स्थिति में जब लंबे समय से कप्तानी कर रहा खिलाड़ी हटने का फैसला करता है या उसे हटाया जाता है तो यह कभी संभव नहीं है कि उसकी बोर्ड के शीर्ष अधिकारियों के साथ चर्चा नहीं हुई हो।’ इस पूर्व विकेटकीपर बल्लेबाज ने कहा, ‘जब मैंने 2004 में कप्तानी छोड़ी थी तो बोर्ड अध्यक्ष के साथ बातचीत के बाद ही ऐसा किया था। यही कारण है कि मैं कह रहा हूं कि बीसीसीआई ने इस मुद्दे से निपटने के तरीके में गलती की। यह भारतीय क्रिकेट के लिए अच्छा नहीं है।’ लतीफ ने कहा कि इतने सालों तक नेतृत्वकर्ता के रूप में मौजूदा कप्तान को हटाना कभी आसान नहीं होता। लतीफ ने कहा कि दक्षिण अफ्रीका में भारत की हार टीम में अनिश्चित माहौल का नतीजा है। टीम ने टेस्ट और वनडे दोनों सीरीज गंवाई।उन्होंने कहा, ‘मैं यह नहीं कह रहा कि कोई जानबूझकर प्रदर्शन नहीं करना चाहता, प्रत्येक पेशेवर खिलाड़ी अच्छा प्रदर्शन करना चाहता है लेकिन अगर टीम का माहौल बदलता है तो इससे खिलाड़ियों पर कई तरह से असर पड़ता है।’  

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button