राजनीति

राहुल गांधी ने छत्तीसगढ़ को दी कई ऐतिहासिक सौगातें

कांग्रेस नेता और सांसद राहुल गांधी ने कहा कि ये देश एक गुलदस्ता जैसा है. देश में अलग-अलग विचारधाराएं है. छत्तीसगढ़ की जो भाषा, संस्कृति और जीवनशैली है, वो दूसरे प्रदेशों की नहीं हो सकती है.

 कांग्रेस नेता और लोकसभा सांसद राहुल गांधी ने राजधानी रायपुर के साईंस कॉलेज मैदान में छत्तीसगढ़ को कई ऐतिहासिक सौगातें दी. कांग्रेस नेता ने छत्तीसगढ़ शासन की महत्वाकांक्षी ‘राजीव गांधी ग्रामीण भूमिहीन कृषि मजदूर न्याय योजना’ और ‘राजीव युवा मितान क्लब योजना’ का शुभारंभ किया. इस दौरान प्रस्तावित ‘गांधी सेवाग्राम’ और देश के लिए प्राण न्यौछावर करने वाले शहीदों की याद में ‘छत्तीसगढ़ अमर जवान ज्योति’ की आधारशिला रखी.

‘ये देश एक गुलदस्ता जैसा है’

राहुल गांधी ने इस अवसर पर वर्तमान समय में देश के सामने आ रही चुनौतियों की बात करते हुए कहा कि ये देश एक गुलदस्ता जैसा है. देश में अलग-अलग विचारधाराएं है. छत्तीसगढ़ की जो भाषा, संस्कृति और जीवनशैली है, वो दूसरे प्रदेशों की नहीं हो सकती है. छत्तीसगढ़ के लोगों को कैसे जीवन जीना चाहिए, आदिवासियों का जंगल और खेत से क्या रिश्ता होना चाहिए, ये अन्य क्षेत्रों के लोग नहीं बता सकते. इसी तरह अन्य राज्यों की भी संस्कृति, भाषा, इतिहास एवं जीवनशैली है. हिन्दुस्तान विभिन्न विचारधाराओं, संस्कृति, भाषा एवं जीवनशैली के लोगों का ऐसा गुलदस्ता है, जहां प्यार है, भाई-चारे की भावना है. यही हमारा देश है, इसी को हिन्दुस्तान कहते हैं. उन्होंने कहा कि देश भक्ति का मतलब देश को मजबूत करना और गरीबों की मदद करना है.

‘जो वादा किया वो करके दिखाया

उन्होंने आगे कहा कि हमने छत्तीसगढ़ की जनता से जो वादा किया था, वो पूरा करके दिखाया है. किसानों के साथ हमारे प्यारे मजदूर भाई भी काम करते हैं. हमने कहा था कि हमें छत्तीसगढ़ के गरीब मजदूर भाईयों की मदद करनी होगी. आज राजीव गांधी ग्रामीण भूमिहीन कृषि मजदूर न्याय योजना के माध्यम से ये काम भी हम पूरा करने जा रहे हैं. उन्होंने कहा कि ये पहला कदम है, इस योजना के माध्यम से हम आपका पैसा आपको ही वापस दे रहे हैं.

‘देश की तरक्की के पीछे किसानों, मजदूरों की है मेहनत’

राहुल गांधी ने कहा कि आज देश ने जो तरक्की की है. ये किसी दल या पार्टी की देन नहीं है, बल्कि देश के किसानों, मजदूरों, कारीगरों, छोटे उद्यमियों और  व्यवसायियों की मेहनत का परिणाम है. करोड़ों लोगों ने अपना खून-पसीना देकर देश को बनाया है. आज इन्हीं मेहनतकश लोगों को परे किया जा रहा है. लोग रोजी-रोजगार के लिए भटके, जीवन-यापन के लिए परेशान हो, हम ऐसा नहीं होने देंगे. उन्होंने छत्तीसगढ़ राज्य में किसानों और मेहनतकश लोगों के हित में संचालित योजनाओं की सराहना की और कहा कि राजीव गांधी ग्रामीण भूमिहीन कृषि मजदूर न्याय योजना से 3 लाख 55 हजार मजदूर भाई-बहनों को सीधा फायदा होगा.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button