देशब्रेकिंग न्यूज़

शिंदे ने बागी विधायकों के परिवार की सुरक्षा के लिए लिखा पत्र

सीएम उद्धव ठाकरे ने भी बगावत करने वाले विधायकों के खिलाफ सख्त एक्शन की चेतावनी जारी कर दी है।

महाराष्ट्र में सियासी खींचातान जारी है। एक तरफ गुवाहाटी में बैठे एकनाथ शिंदे सरकार के खिलाफ बयानबाजी कर रहे हैं तो सीएम उद्धव ठाकरे ने भी बगावत करने वाले विधायकों के खिलाफ सख्त एक्शन की चेतावनी जारी कर दी है। शिवसेना ने आज राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक भी बुलाई है, तो दूसरी तरफ पार्टी के 16 विधायकों को अयोग्य ठहराने को लेकर आज नोटिस जारी हो सकते हैं। इसके खिलाफ एकनाथ शिंदे गुट ने भी महाराष्ट्र विधानसभा के डिप्टी स्पीकर नरहरि जिरवाल के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। ऐसे में सभी की नजरें आज होने वाले घटनाक्रम पर होंगी।

राज्य में जारी राजनीतिक संकट के बीच ठाणे जिला प्रशासन ने धारा 144 लागू कर दी है। 30 जून तक जिले में किसी भी तरह के राजनीतिक जुलूस, सभा या नारेबाजी पर प्रतिबंध लगाने का आदेश जारी किया गया है।

शिवसेना नेता संजय राउत ने कहा, हम साथ में बैठेंगे। पार्टी के भविष्य पर चर्चा करेंगे। पार्टी बहुत बड़ी है। इसे आसानी से हाईजैक नहीं किया जा सकता। उन्होंने कहा, शिवसेना को पैसे से तोड़ा नहीं जा सकता है। इसे बनाने के लिए लोगों ने कुर्बानी दी है। उन्होंने कहा, एक बार बागी विधायक मुंबई वापस आ जाएंगे, वे फिर से हमारे पक्ष में लौट आएंगे। 

बागी विधायकों के परिवारों की सुरक्षा को लेकर एकनाथ शिंदे द्वारा लिखे गए पत्र पर संजय राउत ने पलटवार किया है। उन्होंने कहा, आप विधायक हैं। इसलिए सुरक्षा आपको प्रदान की गई है। आपके परिवार को उसी समान सुरक्षा नहीं दी जा सकती। 

महाराष्ट्र सरकार में मंत्री और बागी नेता एकनाथ शिंदे ने सीएम उद्धव ठाकरे, महाराष्ट्र के गृहमंत्री दिलीप वलसे और डीजीपी महाराष्ट्र को पत्र लिखा है। उन्होंने बागी 38 विधायकों के परिवारों की पर्याप्त सुरक्षा की मांग की है। इसके साथ ही उन्होंने लिखा है कि बागी विधायकों के परिवार की सुरक्षा के लिए राज्य सरकार जिम्मेदार है। 

महाराष्ट्र में सियासी संकट थमने का नाम नहीं ले रहा है। उद्धव ठाकरे के एक्शन में आने के बाद शिवसेना के बागी नेता व मंत्री एकनाथ शिंदे ने सभी बागी विधायकों की एक बैठक बुलाई है। सूत्रों के मुताबिक, गुवाहाटी के रैडिसन ब्लू होटल में दोपहर दो बजे यह बैठक बुलाई गई है। इसमें आगे की रणनीति पर चर्चा की जाएगी।

कार्रवाई के लिए शिवसेना की विधानसभा उपाध्यक्ष को चिट्ठी पर एकनाथ शिंदे ने कहा कि लोकतंत्र में नंबर का महत्व होता है और नंबर उनके पास है। किसी के भी पास उन पर कार्रवाई करने का अधिकार नहीं है। दो निर्दलीय विधायकों महेश बालदी और विनोद अग्रवाल ने विधानसभा उपाध्यक्ष झिरवाल के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव दाखिल किया है।

सरकार में बगावत के बाद सीएम उद्धव ठाकरे के बेटे आदित्य ठाकरे भी अपने पिता की शाख को बचाने की पूरी कोशिश कर रहे हैं। खबर है कि आज शाम महाराष्ट्र सरकार में मंत्री आदित्य ठाकरे शिवसैनिकों को संबोधित करेंगे। वह 6:30 बजे एक जनसभा को संबोधित करेंगे।

महाराष्ट्र में सियासी संकट के बीच भाजपा ने भी हाथ-पैर मारने शुरू कर दिए हैं। जानकारी के मुताबिक, राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री और भाजपा नेता देवेंद्र फडणवीस शनिवार को सहयोगी दलों के साथ बैठक करने जा रहा हैं। वह आज 11 बजे रामदास अठावले से मुलाकात कर सकते हैं। 

महाराष्ट्र पुलिस ने पूरे राज्य भर में अलर्ट जारी किया है। पुलिस सूत्रों के मुताबिक, राज्य में जारी सियासी संकट के बीच शिवसेना के कार्यकर्ता सड़क पर उतरकर उग्र प्रदर्शन कर सकते हैं। 

महाराष्ट्र में जारी सियासी संकट के बीच सीएम उद्धव ठाकरे ने प्रशासनिक अधिकारियों को निर्देश जारी किए हैं। जानकारी के मुताबिक, उन्होंने अधिकारियों से कहा है कि राज्य में जारी सियासी संकट का असर विकास कार्यों पर नहीं पड़ना चाहिए। सभी काम पहले की गति से होते रहेंगे। 

बगावत करने वाले विधायकों के खिलाफ शिवसेना ने भी कार्रवाई की चेतावनी दी है। इस बीच आज पार्टी से बगावत करने वाले 16 विधायकों को अयोग्य घोषित करने को लेकर नोटिस जारी हो सकते हैं। डिप्टी स्पीकर नरहरि जिरवाल ने शिवसेना की अर्जी स्वीकार कर रही ली है। 

महाराष्ट्र में जारी सियासी उठापटक के बीच उद्धव ठाकरे ने आज राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक बुलाई है। इस बैठक में सीएम ठाकरे वर्चुअल रूप से भाग लेंगे। कयास लगाए जा रहे हैं कि बैठक के दौरान ठाकरे अपने राजनीतिक भविष्य को लेकर अहम फैसला भी कर सकते हैं। यह बैठक दोपहर एक बजे शिवसेना भवन में होगी। 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button