देश

शराब के अड्डे ढूंढने के लिए इस राज्‍य का नया प्लान, अब काम में लगाए गए हेलीकॉप्टर

शराब तस्करों पर नकेल कसने के लिए ड्रोन, स्वान दस्ता और मोटरबोट के बाद अब बिहार सरकार (Bihar Govt) ने हेलीकॉप्टर भी लगा दिए गए हैं, जिससे गंगा के दियारे इलाके में बक्सर से कटिहार तक शराब तस्करों पर नजर रखी जाएगी.

 बिहार सरकार (Bihar Govt) राज्य में वह हर उपाय कर रही है, जिससे शराब तस्करों पर नकेल कसी जा सके. इस बीच, अब बिहार में उत्पाद विभाग ने शराब तस्करों को पकड़ने के लिए हेलीकॉप्टर भी लगा दिए गए हैं. शराब धंधे को रोकने और शराब तस्करों को पकड़ने के लिए पहले से ही ड्रोन, स्वान दस्ता, मोटरबोट का सहारा लिया जा रहा है. अब सरकार ने इस काम में हेलीकॉप्टर भी लगा दिए हैं.

इन इलाकों में रखी जा रही हेलीकॉप्टर से नजर

उत्पाद विभाग के एक अधिकारी ने बताया कि इस हेलीकॉप्टर (Helicopter) से गंगा के दियारे इलाके में बक्सर से कटिहार तक शराब तस्करों पर नजर रखी जाएगी. हेलीकॉप्टर के साथ ही मानवरहित हेलीकॉप्टर ड्रोन भी उड़ान भरेगा. इसमें लोकेशन पता करने के बाद उत्पाद और पुलिस की टीम तुरंत छापेमारी कर शराब भठ्ठियों को ध्वस्त कर सकते हैं. बड़ा हेलीकॉप्टर चार सीटर है जो शराब तस्करों पर नकेल कसेगा. इस हेलीकॉप्टर में पायलट सहित चार लोग बैठ सकते है, जिसमें एक जिओ पैसिअल के इंजीनियर, उत्पाद विभाग की टीम और डिटेक्शन एक्सपर्ट बैठकर वीडियो मोनिटरिंग करते हैं.

हेलीकॉप्टर लगातार 6 से 7 घंटे कर सकता है ऑपरेशन

बताया जाता है कि हेलीकॉप्टर 6 से 7 घंटे तक लगातार ऑपरेशन कर सकता है. हेलीकॉप्टर रियल टाइम में अवैध चीजों की पहचान कर, सही जगह का पता कर मद्य निषेध विभाग को और संबंधित जिले के जिलाधिकारी और पुलिस अधीक्षक को इसकी जानकारी देगा. उल्लेखनीय है कि सरकार शराबबंदी कानून को सफल बनाने के लिए जहां नए नए तकनीक का इस्तेमाल कर रही है, वहीं शराब तस्कर भी तस्करी के लिए रोज नए तरीके ईजाद कर रहे हैं. मुख्यमंत्री नीतीश कुमार भी इन दिनों समाज सुधार अभियान यात्रा पर निकले हुए हैं. मुख्यमंत्री इस अभियान के तहत मंगलवार को भागलपुर में लोगों को संबोधित किया.  

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button