उत्तर प्रदेशक्राइम न्यूज़लखनऊ

लखनऊ में अपराध की सनसनीखेज घटना

पुलिस ने अपहरणकर्ताओं को दबोचा

लखनऊ- अपराध से जुड़ी एक सनसनीखेज खबर ने राजधानी पुलिस की नींद उड़ा दी थीं, दरअसल 48 घंटे पहले उस वक्त पुलिस के होश उड़ गये जब सुमित कुमार शर्मा नाम के एक व्यक्ति के अपहरण की सूचना पुलिस को परिवार की ओर से दी गयी।घटना राजधानी के मड़ियांव थाने की है जब परिवार वालों ने रविवार को पुलिस को इत्तला दी कि सुमित कुमार शर्मा घर से लापता हैं और उनका मोबाईल स्वीच्ड आफ है। इस सूचना के मिलते हीं राजधानी पुलिस पूरी तरह से मुस्तैदी से सुमित की खोज में जुट गयी।मदेयगंज पुलिस को सुमित के अपहरणकर्ताओं का सुराग मिलने के बाद पुलिस की पूरी टीम किसी भी कीमत पर सुमित को अपहरणकर्ताओं के चंगुल से छुड़ाने के लिये सक्रिय हो गयी।सुमित के परिजनों से अपहरणकर्ताओं ने 12 लाख रुपये की फिरौती की मांग की,साथ हीं ये चेतावनी भी दी कि अगर समय रहते रकम नहीं दी गयी तो सुमित की हत्या कर दी जायेगी।पुलिस को सर्विलांस के जरिये अपहरणकर्ताओं का लोकेशन प्राप्त हो गया।लोकेशन ट्रैस होने के बाद पुलिस की पूरी टीम ने उस जगह के घेरकर चारों अपहरणकर्ताओं को दबोचकर सुमित कुमार शर्मा को सही सलामत बरामद कर लिया।

जब पूछताछ की गयी तो सुमित ने जानकारी दी कि किस तरह से उसे इन चार शातिरों ने बंधक बना लिया और लगातार उसे जान से मारने की धमकी देते रहे।परिवारवालों से जल्दी 12 लाख की फिरौती मंगवाने के लिये चारों अपहरणकर्ता सुमित पर लगातार दबाब बनाते रहे।पुलिस ने जानकारी दी कि जिन चार अपहरणकर्ताओं को गिरफ्तार किया गया है उनके नाम नीतीश, राजेश, रवि,और सतीश हैं।पुलिस की रिकार्ड में ये चारों शातिर अपराधी है जो कई चोरी की घटनाओं को अंजाम दे चुके हैं।इस घटना का खुलासा करने के लिये मदेयगंज पुलिस की इस टीम को डीसीपी पश्चिम डॉ एस चन्नपा ने ईनाम देकर सम्मानित किया है।इस मामले का खुलासा करने वाली टीम के डीसीपी पश्चिम ने 10 हजार रुपये की धनराशि प्रदान की है।इधर सुमित कुमार शर्मा की सकुशल बरामदगी से परिजनों की खुशी का ठिकाना नहीं है।परिजनों ने स्थानिय पुलिस के इस साहसिक और त्वरित कार्यवाही की जमकर सराहना की है। 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button