स्वास्थ्य

क्या होता है लंपी स्किन डिजीज, जानें इसके लक्षण

लंपी स्किन डिजीज को ‘गांठदार त्वचा रोग वायरस’ भी कहा जाता है। वहीं शार्ट में LSDV कहा जाता है।

कोरोना वायरस महामारी के बीच एक और वायरस ने दस्तक दी है। 50 हजार से अधिक गायों और भैंसों की मौत हो चुकी हैं। वहीं, लाखों की संख्या में मवेशी लंपी वायरस की चपेट में है। खासकर, राजस्थान में लंपी वायरस का कहर अधिक देखने को मिल रहा है। सरकार की तरफ से सभी आवश्यक कदम उठाए जा रहे हैं

 

क्या होता है लंपी वायरस ?

लंपी स्किन डिजीज को ‘गांठदार त्वचा रोग वायरस’ भी कहा जाता है। यह एक संक्रामक बीमारी है, जो एक पशु से दूसरे पशु को होती है। आसान शब्दों में कहें तो संक्रमित पशु के संपर्क में आने से दूसरा पशु भी बीमार हो सकता है। यह बीमारी Capri  poxvirus   नामक वायरस के चलते होती है। इस वायरस का संबंध गोट फॉक्स और शीप पॉक्स वायरस के फैमिली से है। जानकारों की मानें तो मच्छर के काटने और खून चूसने वाले कीड़ों के जरिए यह बीमारी मवेशियों को होती है

लंपी स्कीन डिजीज के लक्षण

-संक्रमित पशु को बुखार आना

-पशुओं के वजन में कमी

-आंखों से पानी टपकना

-लार बहना

-शरीर पर दाने निकलना

-दूध कम देना

-भूख न लगाना

लंपी स्किन डिजीज से बचाव

तबेले की साफ सफाई रखें।

-मच्छरों को भगाने के लिए स्प्रे करें।

-संक्रमित पशु को  गोट पॉक्स वैक्सीन लगवाएं।

-पशुओं को चिकित्सक की सलाह पर दवा दे सकते हैं।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button