देश

मोदी बोले-कि पिछड़े जिलों में सरकार ने लोगों से संवाद किया है डीएम को पीएम का विकास ‘मंत्र’

. इस दौरान उन्होंने विभिन्न राज्यों में हुए विकास कार्यों से संबंधित जानकारी साझा की

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज जिलाधिकारियों से बातचीत की. वर्चुअल संवाद के माध्यम ने प्रधानमंत्री ने विभिन्न राज्यों में हुए विकास कार्यों से संबंधित जानकारी साझा की. उन्होंने बताया कि पिछड़े जिलों में सरकार ने लोगों से सीधा संवाद किया है. अपने संबोधन में पीएम ने कहा कि विकास लिए जनभागीदारी बेहद महत्वपूर्ण है. इसके लिए सरकार ने पिछड़े जिलों में लोगों से संवाद किया. पीएम ने आगे कहा कि कार्यशैली में निरंतर सुधार किया जा रहा है. कई जिलों में कुपोषण को दूर किया गया है. लोगों को साफ पानी मुहैया कराया गया है. साथ ही गांव के प्रत्येक घर में शौचालय बना है.

जानें और क्या-क्या बोले पीएम मोदी

-इसके साथ ही पीएम ने कहा,’आजादी के इस अमृतकाल में करने और पाने के लिए बहुत कुछ है. एक एक आकांक्षी जिले का विकास देश के सपनों को पूरा करेगा. आजादी के 100 साल पूरे होने पर नए भारत का जो सपना हमने देखा है, उनके पूरे होने का रास्ता हमारे इन जिलों  और गांवों से होकर ही जाता है’. -पीएम ने कहा कि डिजिटल इंडिया के रूप में देश एक silent revolution का साक्षी बन रहा है. हमारा कोई भी जिला इसमें पीछे नहीं छूटना चाहिए. डिजिटल इंफ्रास्ट्रक्चर हमारे हर गांव तक पहुंचे, सेवाओं और सुविधाओं की डोर स्टेप डिलिवरी का जरिया बने, ये बहुत जरूरी है’. – पीएम ने कहा कहा,’आकांक्षी जिलों में देश की पहली अप्रोच रही कि इन जिलों की मूलभूत समस्याओं को पहचानने पर खास काम किया गया. इसके लिए लोगों से उनकी समस्याओं के बारे में सीधे पूछा गया, उनसे जुड़ा गया’. – पीएम ने अपने संबोधन में कहा, ‘आकांक्षी जिलों में जो लोग रहते हैं, उनमें आगे बढ़ने की तड़प होती है.  इन लोगों ने अपने जीवन का अधिकतर समय अभावों में, मुश्किलों में गुजारा है’. हर छोटी-छोटी चीजों के लिए उन्होंने परिश्रम किया है. इसलिए वो लोग साहस दिखाने के लिए, रिस्क उठाने के लिए तैयार होते हैं. पीएम ने कहा कि आकांक्षी जिलों में जो काम हुआ है वो बड़े-बड़े विश्वविद्यालयों के लिए अध्ययन का विषय है. पिछले 4 सालों में देश के लगभग हर आकांक्षी जिले में जन-धन खातों में 4 से 5 गुना की वृद्धि हुई है. लगभग हर परिवार को शौचालय मिला है, हर गाँव तक बिजली पहुंची है। -इसके साथ ही पीएम ने कहा,’ जो जिले पहले कभी तेज प्रगति करने वाले माने जाते थे, आज कई पैमानों में ये आकांक्षी जिले भी अच्छा काम करके दिखा रहे हैं. मुख्यमंत्रीगण भी मानते हैं कि उनके राज्यों में आकांक्षी जिलों ने कमाल का काम किया है.’ – प्रधानमंत्री ने कहा, ‘एक तरफ बजट बढ़ता रहा, योजनाएं बनती रहीं, आंकड़ों में आर्थिक विकास भी होता रहा, लेकिन फिर भी आजादी के 75 साल बाद भी देश में कई जिले पीछे ही रह गए. समय के साथ इन जिलों के साथ पिछड़े जिलों का टैग लगा दिया गया’. – पीएम यही नहीं रुके उन्होंने कहा कि जीवन में लोग अपनी आकांक्षाओं के लिए दिन रात परिश्रम करते हैं और कुछ मात्रा में उन्हें पूरा भी करते हैं, लेकिन जब दुसरो की आकांक्षाएं अपनी बन जाएं, जब दूसरों के सपनों को पूरा करना अपनी सफलता का पैमाना बन जाए, तो फिर वो कर्तव्यपथ इतिहास रचता है.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button