स्वास्थ्य

संतुलित भोजन और व्यायाम से सर्दियों को बनाएं सेहत का मौसम

दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल के कम्युनिटी मेडिसिन के निदेशक डा. जुगल किशोर ने बताया कि ठंड से बहुत जल्दी प्रभावित होता है

 सेहतमंद रहने के लिए मौसम के अनुकूल रहना आवश्यक है। सर्दियों में स्वस्थ रहना चुनौती भरा होता है। इन दिनों कम तापमान, अधिक नम मौसम और कोहरा के कारण धूलकण वातावरण में अधिक ऊपर नहीं उठ पाते हैं। इसके कारण धूलकण व प्रदूषक धरातल से कम ऊंचाई पर वातावरण में मौजूद रहते हैं।

बढ़ता है संक्रमण

ठंड के कारण अस्थमा, ब्रांकाइटिस व सीओपीडी (क्रानिक आब्सट्रक्टिव पल्मोनरी डिजीज) की बीमारी तीव्र हो जाती है। इसके साथ ही हार्ट अटैक व स्ट्रोक का खतरा भी अधिक रहता है। गले में खराश, जुकाम और खांसी जैसी मौसमी बीमारियों का भी संक्रमण फैलता है

त्वचा का शुष्क होना

सर्दी के मौसम में त्वचा शुष्क हो जाती है और रूखापन आ जाता है। इसलिए नहाने के बाद शरीर में किसी तेल या क्रीम का प्रयोग जरूर करें, जिससे त्वचा को पर्याप्त पोषण मिल सके।

बढ़ जाती हैं जोड़ों की समस्याएं

सर्दियों में लोग अधिक चिकनाईयुक्त व मसालेदार चीजों का सेवन करते हैं। शारीरिक गतिविधियां कम हो जाती हैं और ज्यादातर लोग व्यायाम से दूरी बना लेते हैं। इसके कारण वजन बढ़ता है। इसका असर शरीर के जोड़ों पर पड़ता है। सर्दी में धूप कम या कई दिनों तक नहीं निकलती है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button