देश

Google में काम करने वाला शख्स मॉडल्स से मंगवाता था अश्लील फोटो,

Google में काम करने वाला एक शख्स खुद को एक फैशन मैग्जीन का एडिटर बताकर मॉडल्स से न्यूड फोटो मंगवाता था और उसके बाद ब्लैकमेलिंग का ऐसा खेल खेलता था कि मॉडल्स उसके हाथ की कठपुतली बन जाती थी.

Google में काम करने वाला एक शख्स लड़कियों को ब्लैकमेल करने का अनोखा तरीका अपनाता था. गूगल में सॉफ्टवेयर इंजीनियर की पोस्ट पर काम करने वाला शख्स पहले मॉडल्स से ऐसे न्यूड फोटो मंगवाता था जिसमें चेहरा न दिख रहा हो. ऐसे फोटो से मॉडल को शुरू में आपत्ति नहीं होती थी और वह फैशन मॉडलिंग में करियर बनाने की खातिर ऐसे फोटो भेज देती थीं. उसके बाद आरोपी का असली खेल शुरू होता था.

खुद को एक रशियन फैशन मैग्जीन का बताता था एडिटर

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार,  नोएडा में रहने वाला 33 साल का मोहित शर्मा गूगल में सॉफ्टवेयर इंजीनियर है. वह खुद को एक रशियन फैशन मैग्जीन का एडिटर बताकर लड़कियों से संपर्क करता था. मोहित की ब्लैकमेलिंग का शिकार एक युवती ने जब पुलिस में शिकायत की तो ये मामला सामने आया. पुलिस ने आरोपी को अरेस्ट कर लिया है.

बड़ी संख्या में मिलीं आपत्तिजनक तस्वीरें 

पुलिस के अनुसार, मोहित शर्मा नाबालिग लड़कियों को अपना शिकार बनाता था. उसके पास से बड़ी संख्या में आपत्तिजनक तस्वीरें मिली हैं. मोहित शर्मा नोएडा सेक्टर 82 में रहता था और गूगल में मार्केट एनालिस्ट के तौर पर काम करता था. उसके पास मैकेनिकल इंजीनियरिंग में बीटेक और बिजनेस मैनेजमेंट में पोस्ट ग्रैजुएशन की डिग्री है.

न्यूड फोटो सोशल मीडिया साइट Instagram पर पोस्ट 

पुलिस ने बताया कि स्पेशल सेल की इंटेलिजेंस फ्यूजन और स्ट्रैटेजिक ऑपरेशन टीम को एक युवती ने शिकायत की उसकी न्यूड फोटो सोशल मीडिया साइट Instagram पर पोस्ट की गई है. पीड़ित महिलाओं ने बताया कि मोहित शर्मा खुद को एक रशियन फैशन मैजज़ीन का एडिटर बताया था और उनसे न्यूड तस्वीरें मांगी थी हालांकि तस्वीरों में चेहरा छिपाकर रखने के लिए कहा गया था. पीड़ितों में कुछ नाबालिग भी शामिल हैं. आरोपी, पीड़ित लड़कियों से नई न्यूड तस्वीरें शेयर करने के लिए कहता था और मना करने पर पहले शेयर की तस्वीरें उनके दोस्तों और रिश्तेदारों को शेयर करने की धमकी देता था. शर्मा ने पीड़ितों की इंस्टाग्राम प्रोफाइल तस्वीरों का भी इस्तेमाल किया.

पुलिस ने जांच के लिए अपनाया हाईटेक तरीका 

पुलिस टीम ने जांच करते हुए आरोपी के डिजिटल फुटप्रिंट और अन्य जानकारी आईपी एड्रेस, हॉटमेल आईडी के आधार पर ट्रेस किया.  इंस्टाग्राम पर हुए IP एड्रेस और अकाउंट से जुड़े हुए हॉटमेल आईडी को ट्रैक करते हुए टीम को पता चला कि आरोपी ने एयरटेल ब्रॉडबैंड वाईफाई कनेक्शन का इस्तेमाल किया है. इस जांच में आरोपी के नोएडा के घर का पुलिस को पता चल गया पुलिस ने जब आरोपी से पूछताछ की तो वह मुकर गया और उसने कहा कि उसका इस मामले से कोई लेना देना नहीं है. लेकिन पुलिस भी इस मामले में कम नहीं थी. पुलिस ने आरोपी पर आईटी एक्ट सेक्शन 67 और 66 सी, आईपीसी की धारा सेक्शन 419, पॉक्सो एक्ट के सेक्शन 12 के तहत मामला दर्ज किया गया है. पुलिस अब इस पूरे मामले को उजागर करने में लगी है.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button