विदेश

रूस के विदेश मंत्री ने कहा कि रूस बात करने को तैयार है। , विदेश मंत्री बोले- पहले हथियार डाले यूक्रेनी सेना

यूक्रेन को लेकर रूस के विदेश मंत्री ने शुक्रवार को एक बड़ा बयान देते हुए कहा कि रूस बात करने को तैयार है। हालांकि उन्होंने इस बातचीत के लिए एक शर्त रखी है।

यूक्रेन को लेकर रूस के विदेश मंत्री ने शुक्रवार को एक बड़ा बयान देते हुए कहा कि रूस बात करने को तैयार है। हालांकि उन्होंने इस बातचीत के लिए एक शर्त रखी है। समाचार एजेंसी रायटर्स के मुताबिक रूस के विदेश मंत्री सर्गेई लावरोव का कहना है कि वे यूक्रेन से बात करने को तैयार हैं लेकिन पहले यूक्रेनी सेना को लड़ाई बंद करनी होगी। हालांकि इस बीच उन्होंने ये भी कहा कि रूस चाहता है कि यूक्रेन के लोग स्वतंत्र हों। रूसी विदेश मंत्री सर्गेई लावरोव (Sergey Lavrov) ने कहा, “एक बार यूक्रेन की सेना ने लड़ना बंद कर दिया तो हम बातचीत के लिए तैयार हैं। रूस  यूक्रेन को ‘अत्याचार से मुक्त’ करना चाहता है।” लावरोव का बयान ऐसे समय में आया है जब रूसी सेना यूक्रेन की राजधानी कीव पर कब्जा करने के करीब पहुंच गई है। वहीं रूसी विदेश मंत्री सर्गेई लावरोव मॉस्को में दूतावास खोलने की अपनी योजना पर शुक्रवार को पूर्वी यूक्रेन के स्व-घोषित डोनेट्स्क और लुहान्स्क गणराज्यों के अधिकारियों के साथ बातचीत करेंगे। इस बीच, रूस ने शहरों और सैन्य ठिकानों पर हवाई हमले करने और तीन तरफ से सैनिकों और टैंकों को भेजने के बाद शुक्रवार को राजधानी कीव के बाहरी इलाके में दस्तक दे दी है। कीव में सुबह से पहले विस्फोटों की आवाज सुनाई दी और कई क्षेत्रों में गोलीबारी की भी सूचना है। वहीं पश्चिमी नेताओं ने एक आपातकालीन बैठक निर्धारित की और यूक्रेन के राष्ट्रपति ने हमले को रोकने के लिए अंतरराष्ट्रीय मदद की गुहार लगाई है। यूक्रेनी राष्ट्रपति का कहना है कि रूसी हमला उनकी लोकतांत्रिक रूप से चुनी गई सरकार को गिरा सकता है, बड़े पैमाने पर लोग हताहत हो सकते हैं और विश्व अर्थव्यवस्था को गंभीर नुकसान पहुंचा सकता है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button