अन्य

आप जान कर चौंक जाएंगे। की 90 साल बूढ़ी जीवित एक्वेरियम मछली मेथुसेलाह है।

दुनिया भर में कई ऐसे अजीबों-गरीब प्राणी हैं जिनके बारे में जान कर आप चौंक जाएंगे।

दुनिया भर में कई ऐसे अजीबों-गरीब प्राणी हैं जिनके बारे में जान कर आप चौंक जाएंगे। आज आपको ऐसी ही एक मछली की उम्र बताएंगे जिसे सुन कर आप भी हैरान रह जाएंगे। किसी भी साधारन एक्वेरियम में रहने वाली मछली की उम्र ज्यादा नहीं होती है। लेकिन मेथुसेलाह दुनिया कि सबसे उम्र दराज जीवित एक्वेरियम मछली है, जिसकी उम्र 90 साल है। दो जीवों के बीच की है कड़ी मेथुसेलाह ताजा फिग्स खाने वाली मेथुसेलाह काफी चंचल है, उसे बहुत अच्छा लगता है जब कोई उसके पेट पर होथो से सहलाता है। कैलिफोर्निया एकेडमी ऑफ साइंसेज के बायोलॉजिस्ट का कहना है कि मेथुसेलाह के उम्र के हिसाब से वह सबसे ज्यादा वर्ष कि जीवित एक्वेरियम मछली है। इसकी लंबई 4 फीट और वजन 18.1 किलोग्राम है। यह ऑस्ट्रेलियन लंगफिश की प्रजाती है, जिसे 1938 में ऑस्ट्रेलिया से लाकर सैन फ्रांसिस्को के एक म्यूजियम में रखा गया था। यह काफी खास मछलियों में मानी जाती है, इसके पास फेफड़े और गिल्स दोनों ही मौजूद हैं। 1947 में सैन फ्रांसिस्को क्रॉनिकल्स अखबार में एक खबर आई थी जिसमें इसके बारे में बताया गया था कि ये एक अजीबो-गरीब जीव है, जिसके पास हरे रंग के स्केल्स है। और यह माना जाता है कि जमीनी और समुद्री जीवों को जोड़ती है। 2017 में हुई थी 95 वर्ष के लंगफिश की मौत शिकागो के शेड्ड म्यूजियम में रह रहें ग्रैंडडैड की 2017 में 95 साल की उम्र में मौत हो गई थी। यह भी एक ऑस्ट्रेलियन लंगफिश ही थी। बायोलॉजिस्ट एलेन जान का कहना है कि मेथुसेलाह एक मादा मछली है। इसे सीजनल फिग्स खाना काफी पसंद है और यह एक शांत स्वभाव की मछली है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button