देश

मंत्री को ‘हनीट्रैप’ में फंसाने को रचा जाल, मॉडल की वजह से खुल गया राज

पति-पत्नी ने मॉडल का नहाते हुए एक वीडियो बना लिया था और इसी के जरिए वो मॉडल को ब्लैकमेल करते थे. पुलिस ने दंपति को गिरफ्तार कर लिया है.

मॉडल गुनगुन उपाध्याय (Gungun Upadhyay) को खुदकुशी करने के लिए मजबूर करने के मामले में राजस्थान पुलिस (Rajasthan Police) ने बड़ी कार्रवाई की है. राजस्थान (Rajasthan) के जोधपुर (Jodhpur) में एक मॉडल को खुदकुशी की कोशिश करने के लिए कथित रूप से मजबूर करने को लेकर एक दंपति को गिरफ्तार किया गया. पति-पत्नी ने मॉडल को भीलवाड़ा के एक मंत्री को हनीट्रैप (Honeytrap) में फंसाने के लिए ब्लैकमेल किया था.

मॉडल ने की आत्महत्या की कोशिश

पुलिस ने बताया कि उदयपुर से अक्षत और दिपाली को गिरफ्तार किया गया है. उससे पहले रविवार को जोधपुर में कथित तौर पर छत से कूदकर जान देने की कोशिश कर चुकी मॉडल ने होश में आने पर पुलिस को बयान दिया था.

मॉडल पर बनाया मंत्री को हनी ट्रैप में फंसाने का दबाव

जोधपुर के डिप्टी पुलिस कमिश्नर (पूर्व) भुवन भूषण यादव ने कहा, ‘हमने अक्षत और दिपाली को मॉडल को ब्लैकमेल करने को लेकर गिरफ्तार किया है. वे दोनों लड़की पर भीलवाड़ा के एक मंत्री को हनीट्रैप में फंसाने का दबाव डाल रहे थे.’उन्होंने बताया कि उन दोनों का व्यापारियों समेत दूसरे लोगों को हनीट्रैप में फंसवा कर उन्हें ब्लैकमेल करने का इतिहास रहा है.  

आपत्तिजनक वीडियो के जरिए किया गया ब्लैकमेल

पुलिस अधिकारी ने बताया कि पति-पत्नी ने मॉडल का नहाते हुए एक वीडियो शूट कर रखा था और उसी के आधार पर वे दोनों उसपर मंत्री को हनीट्रैप में फंसाने का दबाव डाल रहे थे. मॉडल उन दोनों के संपर्क में मॉडलिंग के सिलसिले में आई थी. बता दें कि अक्षत और दिपाली मॉडल को मॉडलिंग के नाम पर पिछले सप्ताह भीलवाड़ा ले गए थे और उन्होंने उसे मंत्री के साथ सोने को कहा. लेकिन लड़की ने ऐसा करने से मना कर दिया और रविवार को जोधपुर चली गई. रास्ते में मॉडल ने अपने पिता और भाई को इस घटना के बारे में बताया और कहा कि वो खुदकुशी करने जा रही है. पुलिस के मुताबिक, लड़की के पिता ने उसे फोन पर घर लौट आने के लिए समझाने की कोशिश की, लेकिन वो जोधपुर पहुंचकर होटल की छत से कूद गई. नीचे वो कार पर गिरी लेकिन बच गई.  

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button