तकनीक

अब WhatsApp पर भी करना पड़ेगा Traffic Light का सामना! सामने आया अजब अपडेट

मैसेजिंग ऐप वॉट्सएप (WhatsApp) ने अपने वेब वर्जन, वॉट्सएप वेब (WhatsApp Web) के लिए एक नया अपडेट जारी किया है. इस अजब अपडेट में आपको ट्रैफिक लाइट का सामना करना होगा

वॉट्सएप (WhatsApp) एक ऐसा मैसेजिंग ऐप है जिससे शायद ही कोई अनजान होगा. दुनिया के सबसे लोकप्रिय प्लेटफॉर्म्स में से एक, वॉट्सएप को स्मार्टफोन के साथ-साथ डेस्कटॉप या लैपटॉप पर भी इस्तेमाल किया जाता है और उस वर्जन को ‘वॉट्सएप वेब’ (WhatsApp Web) के अनाम से जाना जाता है. हाल ही में, वॉट्सएप ने अपने वेब वर्जन के लिए एक अजब अपडेट जारी किया है जिसमें यूजर्स को एक ‘ट्रैफिक लाइट’ का सामना करना पड़ेगा. आइए जानते हैं कि इस अपडेट में ऐसा क्या होगा.. 

WhatsApp Web को मिला नया अपडेट 

कुछ समय पहले वॉट्सएप ने अपने वेब वर्जन के लिए एक नया अपडेट जारी किया है जिससे यूजर्स काफी खुश हैं. इस अपडेट से यूजर्स की चैट्स को एंड टू एंड इन्क्रिप्शन के अलावा भी और सिक्योरिटी मिल जाएगी. इस अपडेट में ‘कोड वेरफाइ’ (Code Verify) नाम का एक क्रोम एक्स्टेन्शन जारी किया गया है और वॉट्सएप का यह दावा है कि इस एक्स्टेन्शन से रियल-टाइम, थर्ड-पार्टी वेरीफिकेशन मिलेगा कि जिस कोड पर आपका वॉट्सएप वेब काम कर रहा है, उसके साथ कोई छेड़छाड़ तो नहीं हुई है. 

वॉट्सएप पर करना होगा ‘Traffic light’ का सामना 

अगर आप इस अपडेट को समझना चाहते हैं तो हम एक ट्रैफिक लाइट का उदाहरण ले सकते हैं. जैसे ही आप अपने ब्राउजर पर वॉट्सएप वेब के लिए क्यूआर कोड को स्कैन करेंगे और लॉग-इन करेंगे, आपके ब्राउजर पर एक इन्डिकेटर पिन्ड होगा. अगर आप लॉग्ड-इन हैं और एफ हैं, तो वो हरे रंग का रहेगा, एक्स्टेन्शन अगर किसी कारण से काम करने बंद हो जाता है तो इन्डिकेटर पीला हो जाएगा और अगर कोड मिसमैच हुआ या किसी और एक्स्टेन्शन या ऐप ने आपकी सिक्योरिटी के साथ छेड़छाड़ की है, तो इन्डिकेटर लाल हो जाएगा. 

आपको बता दें कि वॉट्सएप वेब यूजर्स इस कोड वेरफाइ एक्स्टेन्शन को फायरफॉक्स, गूगल क्रोम और माइक्रोसॉफ्ट एज से डाउनलोड कर सकते हैं.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button