राजनीति

बीजेपी ने अपने दम पर जीतीं 255 सीटें

सीएम योगी आदित्यनाथ ने अपने 5 साल के कार्यकाल में कई ऐसे काम किए जो उनकी छवि को दूसरे नेताओं से अलग बनाते हैं. यही वजह है कि यूपी की जनता ने एक बार फिर से सीएम योगी और उनकी सरकार पर भरोसा जताया

 योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) एक ऐसा नाम है जिन्होंने अपने काम से जनता के बीच सख्त प्रशासक की छवि बनाई, तो वहीं अपनी पार्टी बीजेपी (BJP) के लिए चुनाव में स्टार प्रचारक की भूमिका निभाई. यही नहीं सीएम योगी (CM Yogi) ने विपक्षियों को करारा जवाब देकर साफ कर दिया कि उत्तर प्रदेश (UP) और अपनी पार्टी के लिए वो कितने खास हैं? सीएम योगी आदित्यनाथ के लिए यहां तक पहुंचना बिल्कुल भी आसान नहीं था. गुरुवार को योगी आदित्यनाथ को उत्तर प्रदेश में बीजेपी विधायक दल का नेता भी चुना गया और आज (शुक्रवार को) वो मुख्यमंत्री (Chief Minister) पद की शपथ लेंगे.

CM योगी ने नया रिकॉर्ड बनाया

उत्तर प्रदेश में योगी आदित्यनाथ के नेतृत्व में करिश्माई जीत दर्ज कर भारतीय जनता पार्टी ने उत्तर प्रदेश में इतिहास रच डाला है. योगी आदित्यनाथ ने अपने नाम नया रिकॉर्ड भी कायम किया है. लगातार दूसरे कार्यकाल में लौटने वाले योगी आदित्यनाथ 37 साल में यूपी के पहले मुख्यमंत्री बनने जा रहे हैं. खास बात ये है कि इस बार बीजेपी ने अपने दम पर ही 255 सीटें हासिल की हैं.

‘आएंगे तो योगी ही’ नारा क्यों हुआ सफल?

49 साल के योगी आदित्यनाथ के विरोधी और विपक्षी पार्टियां लगातार उन पर निशाना साधते रहे हैं. कानून-व्यवस्था, कोरोना और महिलाओं की सुरक्षा जैसे कई मुद्दों पर विपक्षी दलों ने योगी आदित्यनाथ की घेराबंदी की कोशिश की. लेकिन जब 10 मार्च को EVM खुलीं तो पूर्व से पश्चिम तक सीएम योगी का सिक्का चलता नजर आया. समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने गिनती में हेरफेर होने तक आरोप लगाकर बीजेपी को घेरने की कोशिश भी की. चुनाव के दौरान भी योगी आदित्यनाथ के समर्थक लगातार विपक्ष को आईना दिखाते रहे और कहते रहे कि आएंगे तो योगी ही. आखिरकार सारी चुनौतियों को पार कर योगी आदित्यनाथ एक बार फिर यूपी के मुख्यमंत्री बनने जा रहे हैं.

सीएम योगी ने इन कामों से छोड़ी छाप

डबल इंजन वाली केंद्र की मोदी सरकार और यूपी की योगी सरकार पर एक बार फिर जनता ने भरोसा जताया है. सीएम योगी ने विपक्ष को करारा जवाब देते हुए अवैध बूचड़खानों से लेकर एंटी रोमियो स्क्वॉड, बुलडोजर से लेकर गुंडाराज खत्म करने की प्रतिबद्धता के चलते जनता के बीच सख्त प्रशासक की छवि बनाई. कोरोना जैसी महामारी से निपटने से लेकर वैक्सीन देने तक की मुहिम पर सीएम योगी खुद भी लगातार नजर रखे हुए थे. राम मंदिर निर्माण से लेकर अयोध्या में दीपावली और दंगामुक्त यूपी के दावों से योगी आदित्यनाथ ने बीजेपी के अंदर भी स्टार जैसी छवि बनाई. इसलिए अक्सर कई मंचों से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी सीएम योगी की तारीफ करते दिखे.

दूसरी बार सूबे की बागडोर संभालने के साथ साथ योगी आदित्यनाथ अब 2024 लोक सभा चुनाव में भी बीजेपी के लिए बड़ी भूमिका निभा सकते हैं.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button