देशब्रेकिंग न्यूज़

अलीगढ़ डीएम इंद्र विक्रम सिंह के स्वागत एवं सम्मान को उमड़ा जनसैलाब

स्वागत करने वालों में जनपद के गणमान्य व्यक्तियों से लेकर जन-सामान्य व कलेक्ट्रेट परिवार भी रहा शामिल, इतना स्नेह व प्यार देखकर डीएम हुए भाव-विभोर

स्वागत करने वालों में जनपद के गणमान्य व्यक्तियों से लेकर जन-सामान्य व कलेक्ट्रेट परिवार भी रहा शामिल, इतना स्नेह व प्यार देखकर डीएम हुए भाव-विभोर।

अलीगढ़ कानून-व्यवस्था की बैठक को संबोधित करते हुए ये कल ही तो कहा था डीएम इन्द्र विक्रम सिंह ने कि अलीगढ़ में सामंजस्य और आपसी भाईचारे की कमी नहीं है। ये और जनपद होते होंगे जहां भाईचारे का माहौल न होता हो। उसी का जीता जागता एक उदाहरण आज सुबह से ही देखने को मिला जब डीएम इंद्र विक्रम सिंह का स्वागत और सम्मान करने के लिए जन सैलाब उमड़ पड़ा।

डीएम सिंह के स्वागत में लोग सुबह 9.30 बजे से ही उनकी राह देख रहे थे और डीएम इन्द्र विक्रम सिंह के आते ही उनका स्वागत करने के लिए सभी लोग उमड़ पड़े। स्वागत करने वालों में महिलाएं भी शामिल थीं और सभी ने डीएम इन्द्र विक्रम सिंह के जनपद अलीगढ़ में एसडीएम व एडीएम पद पर किये गए कार्यों को याद किया और उनकी कार्य शैली को सराहा। स्वागत करने वालों में सभी धर्मों के लोग शामिल रहे।

स्वागत व सम्मान करने वालों गणमान्य व्यक्तियों की भीड़ का नजारा ऐसा कि सभी का आभार व्यक्त करने के लिए डीएम इन्द्र विक्रम सिंह को अपने सभागार में आना पड़ा और बारी-बारी से उन्होंने सभी का सम्मान ग्रहण कर उनका आभार जताते हुए हाल-चाल भी जाना।

सभी का आभार व्यक्त करते हुए डीएम इन्द्र विक्रम सिंह ने कहा कि अलीगढ़ जनपद उनके लिए नया नहीं है और यह जनपद उनके लिए एक परिवार है। आगे बोलते हुए उन्होंने कहा कि मा. मुख्यमंत्री जी की मंशा के अनुरूप इसी परिवार के सहयोग से जनपद अलीगढ़ में भाईचारा कायम रखते हुए अलीगढ़ को विकास की नई ऊंचाइयों पर पहुंचाना है।

जनता के प्रति यह अपनापन और समर्पणभाव ही है कि जनपद को एक ऐसे डीएम मिले हैं जो वर्षों बाद भी किसी को नहीं भूले और सभी के साथ बारी-बारी से कुशक्षेम पूछी और कहा कि कभी भी कोई समस्या हो तो सभी मुझसे सीधे संपर्क कर सकते हैं। आभार व्यक्त करने का तरीका ऐसा कि “कैसे हैं आप, क्या हाल हैं आपके” जैसे शब्दों से सभागार गूंजता रहा।

रिपोर्टर लक्ष्मन सिंह राघव

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button