देशब्रेकिंग न्यूज़

पीएम मोदी आज बुंदेलखंड एक्सप्रेस का उदघाटन करने पहुंचे,बुंदेलखंड के विकास को गति देगा एक्सप्रेसवे

बुंदेलखंड एक्सप्रेस-वे बढ़ाएगा सेना की ताकत सुखोई-मिराज की होगी इमरजेंसी लैंडिंग

लखनऊ । उत्तर प्रदेश के चहुंमुखी विकास को लेकर बेहद गंभीर योगी आदित्यनाथ सरकार ने पीएम नरेन्द्र मोदी के निर्देश पर प्रदेश के बुनियादी विकास के बड़े अंग रोड कनेक्टिविटी पर अपना ध्यान सत्ता संभालने के पहले दिन से ही केंद्रित किया। पूर्वांचल एक्सप्रेसवे के बाद प्रदेश के विकास को रफ्तार देने के लिए बुंदेलखंड एक्सप्रेसवे तैयार है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी आज जालौन जिले में बुंदेलखंड एक्सप्रेस का उदघाटन करने आ रहे हैं । बुंदेलखंड को एक और पहचान मिलने वाली है। चित्रकूट से इटावा तक फैले 296 किलोमीटर लंबे एक्सप्रेस-वे के जरिए सरकार डिफेंस सेक्टर को मजबूत करने पर फोकस कर रही है। बुंदेलखंड एक्सप्रेस-वे से सरकार के ड्रीम प्रोजेक्ट ‘जनरल विपिन रावत डिफेंस कॉरिडोर’ को फायदा मिलेगा। इससे उत्तर भारत के ज्यादातर आर्मी कैंपों तक रक्षा उपकरणों को तेजी से पहुंचाने में मदद मिलेगी। यूपी में सबसे ज्यादा आर्मी कैंप लखनऊ, आगरा, इलाहाबाद, कानपुर और मथुरा में हैं। सरकार का प्लान है कि झांसी में बन रहे डिफेंस कॉरिडोर के जरिए आर्मी यूनिट्स तक सामान तेजी से पहुंचाया जाए। इसमें बुंदेलखंड एक्सप्रेस-वे अच्छा मीडियम साबित होगा। बुंदेलखंड एक्सप्रेस-वे चित्रकूट से शुरू होकर इटावा में लखनऊ-आगरा एक्सप्रेस-वे से मिल रहा है। झांसी से चित्रकूट पहुंचकर बुंदेलखंड एक्सप्रेस-वे के रास्ते आर्मी कैंप्स तक टैंक, आर्मी ट्रक, जवानों की वर्दी और दूसरे हथियार तेजी से पहुंचाए जा सकेंगे। यूपी में 3200 किलोमीटर में फैले 13 एक्सप्रेस-वे में से 6 शुरू हो चुके हैं। 7 पर काम जारी है। इन एक्सप्रेस-वे के किनारे वायुसेना आपातकालीन उपयोग के लिए हवाई पट्टियां तैयार कर रही है। बुंदेलखंड एक्सप्रेस-वे भी इसमें शामिल है । बुंदेलखंड से सटे मध्यप्रदेश का ग्वालियर एयरफोर्स स्टेशन वायुसेना के मुख्य एयरबेस है। यहां से सुखोई, मिराज और दूसरे फाइटर प्लेन उड़ान भरते हैं । ऐसे में जरूरत पड़ने या आपात स्थिति में यूपी के ऊपर से गुजर रहे फाइटर प्लेन बुंदेलखंड एक्सप्रेस-वे पर उतारे जा सकेंगे।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button