देशब्रेकिंग न्यूज़

वीजा अवधि समाप्त होने के बावजूद भारत में रह रहे 4 चीनी नागरिकों को पुलिस ने किया गिरफ्तार

आरोपियों की वीजा अवधि 2020 में समाप्त हो गई थी

उत्तर प्रदेश पुलिस की स्पेशल टास्क फोर्स ने गुरुवार को चार चीनी नागरिकों को गिरफ्तार किया है। बताया जा रहा है की इनपर अवैध रूप से भारत में रहने का आरोप है।वही एसटीएफ चीन से जुड़े संदिग्ध हवाला रैकेट की जांच कर रही है। इसी क्रम में टीम ने नोएडा में छापा मारकर चारों आरोपियों को गिरफ्तार किया है।

बता दे की गिरफ्तार किए गए आरोपियों की पहचान जॉनसन उर्फ ही जुआंग, रेन उर्फ रेन चाव, जेंग हाओजे उर्फ जॉन और जेंग डाई के रूप में हुई है। गिरफ्तार चारों आरोपी 2020 से बिना वैध वीजा के ग्रेटर नोएडा में रह रहे थे। इसी आरोप में बीते 13 जून को गिरफ्तार किए गए चीनी नागरिक जुई फी उर्फ किले के साथ भी इनके तार जुड़े हुए हैं। किले को बीते दिनों उसकी महिला साथी पेटेकरिनुओ के साथ गिरफ्तार किया गया था। पेटेकरिनुओ 22 वर्षीय है और नागालैंड की निवासी है।

जानकारी के मुताबिक उत्तर प्रदेश पुलिस ने बिहार से नेपाल जाने की कोशिश के दौरान सशस्त्र सीमा बल द्वारा गिरफ्तार किए गए दो अन्य चीनी नागरिकों को पकड़ने के दौरान गुरुग्राम के एक होटल से जुई फी और पेटेकरिनुओ को गिरफ्तार किया था।

वही आरोप है कि जुई फी ने भारत में कई कंपनियों को लॉन्च किया था, जिनमें से अधिकांश फर्जी थे। जांचकर्ताओं के मुताबिक , वह ग्रेटर नोएडा में एक अवैध लग्जरी रेस्ट्रो-बार भी चला रहा था, जिसमें मुख्य रूप से केवल चीनी संरक्षक ही थे। अधिकारियों ने बताया कि इस मामले में अभी हवाला कारोबार का मामला जांच का विषय है।

बुधवार को इतर नोएडा पुलिस ने भारत में रहने के आरोप में एक महिला सहित 14 चीनी नागरिकों को कथित तौर पर एक्सपायर्ड वर्क वीजा पर हिरासत में लिया था।

खबर है की सभी 14 आरोपी एक मोबाइल कंपनी में काम करते थे, लेकिन उनके वीजा की अवधि 2020 में समाप्त हो गई थी। अधिकारियों के मुताबिक उन सभी चीनी नागरिकों को दिल्ली के एक निरोध केंद्र में भेजा गया था जहां उनके निर्वासन के लिए कार्रवाई शुरू कर दी गई।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button