खेल जगत

बाबर आजम के फैसले पर अफरीदी हुए गुस्सा, बोले- यासिर शाह को बेंच पर बैठाने को कोई मतलब नहीं

बल्लेबाजों ने खूब रन बटोरे और इस कारण पिच के साथ-साथ पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड की काफी किरकिरी भी हुई है

पाकिस्तान और ऑस्ट्रेलिया के बीच रावलपिंडी टेस्ट के दौरान डेड पिच के कारण बल्लेबाजों ने खूब रन बटोरे और इस कारण पिच के साथ-साथ पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड की काफी किरकिरी भी हुई है। सीरीज का पहला टेस्ट नीरस ड्रॉ रहा। रावलपिंडी की पिच पर पांच दिन में सिर्फ 14 विकेट गिरे और दोनों टीमों ने मिलकर 1,187 रन बनाए, जिसमें ऑस्ट्रेलियाई गेंदबाजों ने केवल चार विकेट लिए। जिसके कारण पूर्व खिलाड़ियों, आलोचकों और प्रशंसकों ने पिच की आलोचना की। इस मैच के लिए पाकिस्तान नेऑफ स्पिनर साजिद खान और बाएं हाथ के स्पिनर नौमान अली सहित केवल चार गेंदबाजों के साथ खेलने का विकल्प चुना था। 

हालांकि, पाकिस्तान के पूर्व कप्तान शाहिद अफरीदी का मानना है कि पाकिस्तान को लेग स्पिनर यासिर शाह पर भरोसा करना चाहिए। अफरीदी ने समा टीवी पर कहा, ”अगर आपके पास एक ऑफ स्पिनर है जो सईद अजमल, सकलैन मुश्ताक या मुथैया मुरलीधरन की तरह दूसरा फेंक सकता है, तो यह समझ में आता है। अन्यथा, मुझे नहीं लगता कि एक ऑफ स्पिनर की इतनी बड़ी भूमिका है।”

“आपके पास यासिर शाह हैं, जो सबसे सीनियर क्रिकेटरों में से एक हैं, जिन्होंने आपको इतने मैच जिताएं हैं। उसे एक विश्व स्तरीय टीम के खिलाफ बेंच पर रखना, मुझे यह बिल्कुल समझ में नहीं आता है।” 

साजिद खान के प्रदर्शन (45 ओवर में 1/122) पर आगे कमेंट करते हुए अफरीदी ने कहा कि उन्हें उनसे उम्मीद नहीं थी क्योंकि पिच धीमी थी। उन्होंने कहा, ”साजिद ने अच्छा प्रदर्शन किया है। मुझे उनसे इस पिच पर ज्यादा उम्मीदें नहीं थीं। क्योंकि पिच बहुत धीमी थी और उसमें ज्यादा उछाल नहीं था।”

इससे पहले पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड (पीसीबी) के अध्यक्ष रमीज राजा ने बुधवार को पहले टेस्ट में पिच पर एक बयान जारी किया, जिसमें उन्होंने कहा कि वे “तेज या उछाल वाली पिच” तैयार नहीं कर सकते हैं, जिससे ऑस्ट्रेलियाई टीम के लिए परिस्थितियां और अधिक अनुकूल बन जाए। हालांकि पीसीबी अध्यक्ष के बयान को मिली-जुली प्रतिक्रिया मिली है और पाकिस्तान के पूर्व स्पिनर दानिश कनेरिया ने रमीज राजा पर यह कहते हुए लताड़ लगाई है कि उन्होंने “फैंस को धोखा दिया है।”

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button