मनोरंजन

हॉलीवुड पर भी अपने संगीत का जादू चला चुके हैं राहत फ़तेह

राहत फतेह अली खान आज किसी पहचान के मोहताज नहीं है।जी हाँ पाकिस्तान के रहने वाले राहत जितना अपने देश में मशहूर हैं

राहत फतेह अली खान आज किसी पहचान के मोहताज नहीं है।जी हाँ पाकिस्तान के रहने वाले राहत जितना अपने देश में मशहूर हैं उससे कहीं ज्यादा उनकी फैन फॉलोइंग भारत में है।राहत हर साल 9 दिसंबर को अपना जन्मदिन मनाते हैं।चलिए उनके जन्मदिन पर जानते हैं उनसे जुड़ी खास बातें। आपको बता दें कि राहत का जन्म पाकिस्तान के फैसलाबाद में साल 1974 में हुआ था और वह सूफी कव्वाल परिवार से ताल्लुक रखते हैं और उनके गाए सूफी गाने लोगों को काफी ज्यादा पसंद आते हैं।घर में संगीत का माहौल होने की वजह से ही राहत को गाने में दिलचस्पी बचपन से ही थी।सिर्फ यही वजह थी कि बहुत छोटी उम्र में ही उन्होंने संगीत की शिक्षा लेनी शुरू कर दी थी। राहत का केवल बॉलीवुड और पाकिस्तान में ही नहीं बल्कि हॉलीवुड में भी जलवा रहा है। वह हॉलीवुड के कई प्रोजेक्ट पर काम कर चुके हैं। साल 1995 में अपने चाचा नुसरत और पिता के साथ मिलकर उन्होंने एक हॉलीवुड फिल्म ‘डेड मैन वॉकिंग’ के संगीत में अहम योगदान दिया था। इसके अलावा वह ‘फोर फेदर्स’ के म्यूजिक पर भी काम कर चुके हैं। साल 2006 में आई फिल्म ‘एपोकलिप्स’ में भी राहत अपनी आवाज दे चुके हैं। मीडिया रिपोर्ट्स की मानें तो राहत कई बॉलीवुड सिंगर से ज्यादा फीस चार्ज करते हैं। गाने के अलावा वह अब तक कई टीवी शोज में बतौर जज भी नजर आ चुके हैं। साल 2008 में ‘जुनून’ नाम के एक सिंगिंग रियलिटी शो में वह जज की भूमिका में दिखे थे। संगीत की तालीम उनके चाचा नुसरत फतेह अली खान से मिली है उन्हें।बता दें कि राहत ने सात साल की उम्र से ही गायकी शुरू कर दी थी।जी हाँ साल 2003 में राहत ने बॉलीवुड में कदम रखा और उनका पहला गाना ‘पाप’ फिल्म में ‘लागी तुमसे मन की लगन’ था।दरअसल इस गाने ने उन्हें रातों-रात स्टार बना दिया और अपने पहले गाने के बाद से ही राहत ने संगीत प्रेमियों के दिल में खास जगह बना ली।इसके बाद में उन्होंने हिंदी फिल्म इंडस्ट्री के लिए दर्जनों सुपरहिट गाने गाए है।      

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button