देशब्रेकिंग न्यूज़

अलीगढ़ में विद्यालय की जमीन पर दबंग लोगों का पुनः कब्जा

अलीगढ़ की खैर तहसील क्षेत्र के गांव पला वीरान में ग्रामीणों की शिकायत के बाद विद्यालय की जमीन पर दबंग लोगों ने कब्जा कर रखा था

अलीगढ़ की खैर तहसील क्षेत्र के गांव पला वीरान में ग्रामीणों की शिकायत के बाद विद्यालय की जमीन पर दबंग लोगों ने कब्जा कर रखा था उस कब्जे को 21 मार्च2022 को प्रशासन द्वारा ध्वस्त करा दिया गया था प्राप्त जानकारी के अनुसार आपको बता दें एक माह बाद उन्हीं दबंग लोगों द्वारा विद्यालय की जमीन पर पुनः कब्जा कर लिया है इस पूरे मामले को लेकर आज ग्रामीणों द्वारा जिलाधिकारी अलीगढ़ और खैर एसडीएम और राज्य मंत्री को भी इस पूरे मामले की लिखित में शिकायत की है लेकिन शासन-प्रशासन अभी पूरे मामले को लेकर चुप्पी साधे हुआ है

 

अब देखने वाली बात यह रहेगी एक तरफ सूबे के मुखिया योगी आदित्यनाथ कहते हैं या तो अवैध रूप से जमीनों पर कब्जा करने वाले भूमाफिया जेल के अंदर होंगे या उत्तर प्रदेश को छोड़ देंगे लेकिन ताजा मामला अलीगढ़ की खैर तहसील क्षेत्र के गांव पला वीरान का है प्रशासन द्वारा कब्जे को ध्वस्त कराने के बाद पुनः उन्हीं दबंग लोगों ने उस जमीन पर अपना कब्जा जमा लिया है लेकिन आपको बता दें प्रशासन द्वारा कब्जा मुक्त कराने के बाद भी दबंग लोगों ने फिर से उस पर अपना कब्जा बना लिया है और प्रशासन के लिए एक नई चुनौती उत्पन्न कर दी है लेकिन कब तक इन भू माफियाओं पर किस तरीका की कार्रवाई कर पाता है या नहीं लेकिन बता दें ग्रामीणों द्वारा विद्यालय की जमीन को लेकर दोबारा से हो रहे कब्जे को लेकर जगह-जगह शिकायत कर रहे हैं

और दबंग लोगों द्वारा कब्जा मुक्त कराई हुई जमीन पर निर्माण जारी है और शासन प्रशासन मूक दर्शक बनकर बैठा है क्या सूबे के मुखिया योगी आदित्यनाथ द्वारा किए आदेशों का शासन प्रशासन इसी तरीके से पालन करेगा या तत्काल कार्यवाही करते हुए कब्जे को पूरी तरह हटाएगा लेकिन सोशल मीडिया पर दबंगों द्वारा कब्जा करते हुए लोगों का वीडियो वायरल हो रहा है इन तस्वीरों से आपको स्वयं पता चल जाएगा कि आज भी दबंगों के हौसले बुलंद हैं और वही भू माफियाओं ने सूबे के मुखिया योगी आदित्यनाथ के आदेशों की जमकर धज्जियां उड़ाई जा रही हैं

बाइट – शिकायतकर्ता का भाई संजय शर्मा पला वीरान खैर अलीगढ़

रिपोर्टर लक्ष्मन सिंह राघव

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button