तकनीक

ये बना दुनिया का टॉप मोबाइल गेमिंग ऐप, जनवरी में हर मिनट 3.93 लाख रुपये खर्च

PUBG Mobile गेमिंग ऐप को भारत में आईटी एक्ट के सेक्शन 69A के तहत बैन कर दिया गया है। ऐसा आरोप है कि PUBG Mobile भारत की एकता और अखंडता के लिए खतरा है।

भारत में पिछले कुछ वर्षों में कई पॉप्युलर गेमिंग ऐप पर प्रतिबंध लगा दिया है। लेकिन प्रतिबंध के बीच पबजी मोबाइल (PUBG Mobile) दुनिया का टॉप गेम बनकर उभरा है। Sensor Tower की रिपोर्ट के मुताबिक PUBG Mobile खेलने के दौरान प्लेयर्स ने जनवरी 2022 में करीब 237 मिलियन डॉलर (17,79,77,52,000) खर्च कर दिये। मतलब जनवरी 2022 में हर मिनट पबजी मोबाइल गेमिंग पर करीब 4 लाख रुपये खर्च किये गये। PUBG Mobile को जनवरी 2022 में मिले कुल रेवेन्यू का ज्यादातर हिस्सा करीब 64 फीसदी चीन से आता है। जिसे चीन में लोकल नेम गेम फॉर पीस (Game For Peace) से जाना जाता है। कमाई में अव्वल हैं ये गेम  पबजी मोबाइल चीन के बाहर यूएस में कुल मार्केट शेयर करीब 8 फीसदी है। जबकि तुर्की से 7 फीसदी मार्केट शेयर आता है। वही ऑनर ऑफ किंग्स (Honor of Kings) दुनिया में दूसरा सबसे ज्यादा खेला जाने वाला मोबाइल गेमिंग ऐप है। इस गेम पर जनवरी 2022 पर 233.2 मिलियन डॉलर खर्च किए गए हैं। PUBG की तरह ही ऑनर ऑफ किंग्स के रेवेन्यूय का करीब 96 फीसदी हिस्सा चीन से आता है। चीन के बाद 2 फीसदी के साथ ताइवान का नाम सामने आता है। ये बनें दुनिया के टॉप-5 गेमिंग ऐप PUBG mobile और ऑनर ऑफ किंग के बाद दूसरा सबसे ज्यादा खेला जाने वाला गेमिंग ऐप MiHOYO का Genshin Impact रहा। इसके बाद चौथे पायदान पर Candy Crush Saga और Roblox का नंबर आता है।जनवरी 2022 में ग्लोबल मोबाइल गेमिंग मार्केट का अनुमानित रेवेन्यू 7.4 बिलियन डॉलर रहा है। हालांकि इसमें पिछले साले के मुकाबले 7 फीसदी की गिरावट दर्ज की गयी है। जनवरी 2022 में यूएस की ग्लोबल रेवेन्यू में हिस्सेदारी 2.1 बिलियन डॉलर रही। जो कि कुल कुल प्लेयर का 28 फीसदी है। जापान 19.3 फीसदी के साथ दूसरे पायदान पर रहा है। इसके बाद चीन का नंबर आता है। हालांकि चीन में गूगल प्ले मौजूद नहीं है। इन ऐप्स को किया गया बैन बता दें कि PUBG Mobile गेमिंग ऐप को भारत में आईटी एक्ट के सेक्शन 69A के तहत बैन कर दिया गया है। ऐसा आरोप है कि PUBG Mobile भारत की एकता और अखंडता के लिए खतरा है। हाल ही में Garena FreeFire समेत 54 चीनी ऐप्स को बैन कर दिया गया है।  

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button