स्वास्थ्य

स्मोकिंग की वजह से फेल हो सकती है किडनी

ज्यादा पेशाब आना किडनी खराब होने का संकेत हो सकता है।

किडनी हमारी बॉडी का अहम अंग है। किडनी के बिना शरीर के नर्वस, कोशिकाएं और मसल्स सही तरीके से काम नहीं कर सकते। किडनी हमारे खून की सफाई करती है। सफाई से मतलब है कि ये बॉडी से टॉक्सिन को बाहर निकालती है। किडनी में मौजूद लाखों फिल्टर खून से टॉक्सिन को बाहर निकालते हैं।

किडनी इलेक्ट्रोलाइट के स्तर को नियंत्रित करती है। किडनी के जरिए ही बॉडी में नमक, पानी और मिनरल्स बैलेंस में रहते हैं। अच्छी सेहत के लिए किडनी का हेल्दी होना जरूरी है। किडनी को हेल्दी रखने के लिए किडनी की सेहत का ध्यान रखना जरूरी है। किडनी की अच्छी सेहत अच्छी डाइट पर निर्भर करती है। कॉफी,नमक, रेड मीट, आर्टिफिशियल स्वीटनर और स्मोकिंग की आदत किडनी को नुकसान पहुंचा सकती है।

देश के मशहूर आयुर्वेद डॉक्टर अबरार मुल्तानी कहते हैं कि ज्यादा स्मोकिंग और शराब का सेवन करने से किडनियां खराब हो सकती हैं। स्मोकिंग करने से शरीर की ब्‍लड वेंस प्रभावित होती हैं, जिससे ब्‍लड फ्लो कम हो जाता है और किडनी पर काफी प्रेशर पड़ता है। आइए जानते हैं कि किडनी खराब होने पर बॉडी में कौन-कौन से लक्षण दिख सकते हैं।

यूरिन का ज्यादा डिस्चार्ज होना: किडनी में परेशानी होने पर सबसे पहले उसका असर यूरिन पर पड़ता है। ज्यादा पेशाब आना किडनी खराब होने का संकेत हो सकता है।

बॉडी में खून की कमी होना: किडनी खराब होने से बॉडी में खून की कमी हो सकती है। खून की कमी होने से मरीज को थकान और कमजोरी बढ़ सकती है।

भूख कम लगना: किडनी में खराबी आने पर मरीज को भूख कम लगती है और उसका पेट हमेशा भरा हुआ महसूस होता है।

वजन का तेजी से कम होना: किडनी में खराबी का असर वजन पर भी देखने को मिलता है। किडनी की खराबी होने पर मरीज को हमेशा पेट भरा हुआ महसूस होता है और वो कम खाता है जिसकी वजह से उसका तेजी से वजन कम होने लगता है।

पैरों में सूजन होना: किडनी में खराबी होने पर बॉडी में सोडियम जमा होने लगता है जिससे पैरों में सूजन आ सकती है। सोडियम जमा होने से आंखों और चेहरे पर भी सूजन आ सकती है।

ब्लड प्रेशर का बढ़ना: किडनी में खराबी होने पर ब्लड प्रेशर हाई होने लगता है। किडनी में खराबी होने पर किडनी ठीक से काम नहीं करती और ब्लड प्रेशर की परेशानी बढ़ जाती है।

स्किन का ड्राई होना: किडनी में खराबी होने पर उसका असर स्किन पर भी दिखने लगता है। स्किन ड्राई होने लगती है।

नींद में कमी आना: किडनी की समस्या होने पर नींद का पैटर्न भी बिगड़ने लगता है। नींद की कमी होने की वजह से कई बार बैचेनी और घबराहट भी होती है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button