विदेश

रूसी सेना द्वारा यूक्रेन पर किए गए हमले के बीच यूक्रेनी सैनिकों की बहादुरी के चर्चे हैं।

टैंकों को रोकने के लिए यूक्रेनी सैनिक विटाली वलोडिमिरोविच शाकुन ने पुल सहित खुद को बम से उड़ा लिया है।

रूसी सेना द्वारा यूक्रेन पर किए गए हमले के बीच यूक्रेनी सैनिकों की बहादुरी के चर्चे हैं। रिपोर्ट्स के मुताबिक ने रूसी टैंकों को रोकने के लिए यूक्रेनी सैनिक विटाली वलोडिमिरोविच शाकुन ने पुल सहित खुद को बम से उड़ा लिया है।  मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक रूसी सेना जब क्रीमिया के पास खेर्सन इलाके में तेजी से बढ़ रही थी तो विटाली ने खुद आगे बढ़कर उस पुल को उड़ा दिया जिसके जरिए रूसी सैनिक शहरी इलाके में पहुंच सकते थे। माइंस बिछाकर उड़ाया पुल रिपोर्ट्स के मुताबिक विटाली क्रीमियन इस्तमुस पर मरीन की एक बटालियन में एक इंजीनियर था। पुल को उड़ाने का काम विटाली ने स्वेच्छा से किया है। विटाली ने अपने साथियों को बताया कि वह पुल पर माइंस बिछाकर उड़ा रहे हैं। विटाली के पुल से दूर भागने से पहले ही ब्लास्ट हो गया जिसमें उनकी मौत हो गई। मरणोपरांत सम्मानित होंगे विटाली रिपोर्ट्स के मुताबिक यूक्रेन सरकार ने विटाली को मरणोपरांत सम्मानित करने का फैसला लिया है। यूक्रेन सेना ने विटाली को नायक बताया है। सेना की ओर से भी उन्हें सम्मानित किया जाएगा। रूसी सेना राजधानी कीव के बाहरी इलाकों तक पहुंच चुकी है बता दें कि पिछले तीन दिन से रूसी सेना यूक्रेन पर चारों ओर से हमले कर रही है। हालांकि अब तक यह साफ नहीं है कि यूक्रेन के कितने इलाके पर यूक्रेनी सेना और रूसी सेना का नियंत्रण है। हालंकि कई रिपोर्ट्स से यह साफ है कि रूसी सेना राजधानी कीव के बाहरी इलाकों तक पहुंच गई है। अमेरिकी रक्षा अधिकारियों का मानना ​​​​है कि रूसी आक्रमण को काफी प्रतिरोध का सामना करना पड़ा है और मॉस्को अपनी कल्पना की तुलना में धीमी गति से आगे बढ़ रहा है, हालांकि यह जल्दी से बदल सकता है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button