देश

इंदौर में दरगाह के बाहर पोती गई थी चेहरे पर कालिख आरोपी सद्दाम ने बताई ऐसा करने की वजह

पठान के चेहरे पर कालिख पोतने का आरोपी सद्दाम पेशे से मजदूर है. उसने शुरुआती पूछताछ में बताया कि यह आदमी मुझे पसंद नहीं है जो हमेशा देश विरोधी बातें करता रहता है और मुस्लिम समाज को बदनाम करता है.

एआईएमआईएम (AIMIM) के नेता और प्रवक्ता वारिस पठान (Varis Pathan) पर इंदौर (Indore) के खजराना इलाके में हजरत नाहरशाह वली दरगाह पर चादर पेश करने स्थानीय कार्यकर्ताओं के साथ पहुंचे थे, इस दौरान उनके मुंह पर किसी ने कालिख फेंक दी. इसके बाद मचे हड़कंप और बवाल के बाद वहां मौजूद लोगों की मदद से आरोपी को पकड़ा गया. इसके बाद उसे स्थानीय पुलिस के हवाले कर दिया गया.

कांग्रेस करवा रही है और कुछ नहीं: पठान

इस मामले में वारिस पठान का कहना है कि वे मध्य प्रदेश में चुनावी दौरे पर आए थे लोगों का प्यार और दुआएं उन्हें मिली साथ ही किसी ने काजल का टीका भी लगा दिया. उनकी पार्टी मध्य प्रदेश में चुनाव लड़ने जा रही है. AIMIM के राष्ट्रीय प्रवक्ता वारिस पठान ने अपने चेहरे पर कालिख लगाए जाने के मामले में कहा, ‘मैं दरगाह पर चादर चढ़ाने गया था. मेरे चाहने वाले के द्वारा कहा गया कि आपको चेहरे पर काजल लगाना है ताकि आपको किसी की नज़र न लगे. जिसके बाद मैंने चेहरा धोया. उसका गलत मतलब निकाला गया.’ उन्होंने आरोप लगाया कि यह सब कांग्रेस पार्टी करवा रही है और कुछ नहीं.’

मामले की जांच जारी

खजराना थाना प्रभारी दिनेश कुमार वर्मा के मुताबिक पठान के चेहरे पर कालिख पोतने का आरोपी खजराना की पटेल कॉलोनी का रहने वाला है. जिसका नाम सद्दाम और उम्र 30 वर्ष है. वो पेशे से मजदूरी का काम करता है. उसके द्वारा शुरुआती पूछताछ में बताया गया कि यह आदमी मुझे पसंद नहीं है जो हमेशा देश विरोधी बातें करता रहता है और मुस्लिम समाज को बदनाम करता है. फिलहाल कालिख लगाने वाले आरोपी को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है. पुलिस द्वारा उससे अन्य पूछताछ भी की जा रही है कि वह किसी पार्टी से जुड़ा तो नहीं है.इस मामले में डीसीपी संपत उपाध्याय का कहना है कि घटना की शिकायत मिली है, सद्दाम नामक व्यक्ति ने कालिख फेंकी थी जिसकी पुलिस जांच कर रही है.  

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button