लाइफस्टाइल

होली पर बच्चों के लिए खास सेफ्टी टिप्स

रंगों का त्योहार होली 18 मार्च को है। ये त्योहार हर किसी को खूब पसंद है, खासकर बच्चों को। बच्चों के लिए तो ये काफी दिन पहले ही शुरू हो जाता है।

रंगों का त्योहार होली 18 मार्च को है। ये त्योहार हर किसी को खूब पसंद है, खासकर बच्चों को। बच्चों के लिए तो ये काफी दिन पहले ही शुरू हो जाता है। वहीं बच्चे हफ्तों पहले से ही तैयारियों में जुट जाते हैं। हालांकि त्योहार से पहले थोड़ी सी चूक मुश्किल खड़ी कर सकती है। खासकर बच्चों के मामले में सावधानी बरतना जरूरी होता है। ऐसे में होली से पहले ही आपकों कुछ सेफ्टी टिप्स जानने चाहिए, ये आपके खूब काम आएंगे।

होली पर बच्चों के लिए सेफ्टी टिप्स (Safety Tips For Children on Holi)

1) बच्चों पर रखें नजर 

इस बात का ध्यान रखें की आपका बच्चा जहां पर होली खेल रहा है वहां पर कोई बड़ा उनके साथ हो। खासकर तब जब बड़े ड्रम या फिर डब में पानी भरा हो। कई बार सामने आता है कि बच्चा पानी भरने के लिए टब के पास गए और वह उसमें गिर गए तो ऐसे में किसी भी तरह के एक्सिडेंट से बचने के लिए आप बच्चों के आसपास रहें।

2) नैचुरल रंगों का करें इस्तेमाल 

बच्चों की स्किन काफी सेंसिटिव होती है, ऐसे में अगर सिंथेटिक रंग का इस्तेमाल किया जाएगा तो इससे उनकी स्किन खराब हो सकती है। ऐसे में हर्बल और ईको फ्रेंडली रंगों का इस्तेमाल करें। कैमिकल युक्त रंगों का इस्तेमाल करने से बचें। 

3) पानी के बलूनों से बचें

एक दूसरे पर पानी के बलून फेंकना काफी मजेदार होता है। लेकिन कई बार बलून से भागने पर चोट लग सकती है। वहीं कई बार ये स्किन पर इतनी जोर से लगता है कि कान, आंख और नाक तक में पानी चला जाता है।

4) सेफ्टी से करें पिचकारी का इस्तेमाल 

होली पर रंगों के साथ खूब मस्ती मजाक होता है, छोटे बच्चे अपनी पिचकारी से अक्सर एकदूसरे को टार्गेट करते हैं। ऐसे में अपने बच्चों को सिखाएं की वह अपनी पिचकारी से किसी को परेशान न करें। साथ ही किसी के चेहरे, आंख, कान पर पानी न फेंके। 

5) सही कपड़ों का चुनाव 

इस बात का ध्यान रखें की आप बच्चों को फुल स्लीव्स के कपड़े पहनाएं। ऐसा करने से स्किन पर रंग को लगने से रोका जा सकता है।

6) जबरदस्ती न लगाएं रंग 

जरूरी नहीं है कि हर बच्चे को रंगों से खेलना पसंद हो। ऐसे में किसी को जबरदस्ती रंग न लगाएं क्योंकि अक्सर इससे बचने के लिए झटपटाते हैं और गलती से रंग मुंह में चला जाता है। जिसकी वजह से उलटियां हो सकती हैं।

7) स्किन को करें तैयार 

रंगों से बचाने के लिए बच्चों की स्किन पर तेल अच्छी तरह से अप्लाई करें। इसके लिए आप नारियल का तेल या फिर जैतून के तेल का इस्तेमाल भी कर सकती हैं। इसी के साथ होली खेलने से एक रात पहले बच्चों के बालों में अच्छे से तेल लगाएं, फिर अगली सुबह दोबारा से लगाएं। खासकर लड़कियों के बालों को अच्छे से बांध भी दें।

बच्चों को सिखाएं ये बातें

– रंग को हटाने के लिए कैमिकल यूक्त चीजों का न करें इस्तेमाल। – जानवरों और पौधों पर रंग वाला पानी न डालें। – अंडे, मिट्टी, वॉशिंग पाउडर से होली न खेलें। – किसी की आंख, नाक, कान और मुंह के पास रंग न लगाएं।  

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button