उत्तर प्रदेशदेशब्रेकिंग न्यूज़सम्भल

संभल : अखिलेश यादव सबको साथ लेकर चलें जिससे पार्टी का भला हो : डॉ. शफीकुर्रहमान बर्क

सपा सांसद शफीकुर्रहमान बर्क ने मुलायम सिंह यादव के निधन पर अफसोस जताया है उन्होंने कहा कि वे एक शख्सियत थे उन्होंने कभी किसी से भेदभाव नहीं किया वहीं उन्होंने अखिलेश यादव को सलाह देते हुए कहा है कि वह सबको साथ लेकर चलें जिससे समाजवादी पार्टी का भला होगा।

सपा सांसद शफीकुर्रहमान बर्क ने मुलायम सिंह यादव के निधन पर अफसोस जताया है उन्होंने कहा कि वे एक शख्सियत थे उन्होंने कभी किसी से भेदभाव नहीं किया वहीं उन्होंने अखिलेश यादव को सलाह देते हुए कहा है कि वह सबको साथ लेकर चलें जिससे समाजवादी पार्टी का भला होगा। सांसद ने मुलायम सिंह यादव के साथ किए गए कामों को बताया वहीं मुलायम के जमाने में सपा के किए गए कार्य तथा उनके साथ काम के अनुभवों को शेयर किया है। सम्भल से मुलायम सिंह यादव के लोकसभा का चुनाव लड़ने तथा उनके साथ बिताई तमाम यादें साझा कीं वहीं कहा कि उनकी दिली तमन्ना है शिवपाल यादव सपा की सरपरस्ती करें भाजपा नफरत फैला रही है अखिलेश यादव नफरत को खत्म कर सपा को बुलंदियों की ओर ले जाएं। पत्रकार वार्ता के दौरान समाजवादी पार्टी के सांसद डॉ. शफीकुर्रहमान बर्क ने कहा कि मुलायम सिंह के साथ सम्भल हमेशा साथ रहा है अगर समाजवादी पार्टी को गिरफ्तारी की जरूरत पड़ी तो सबसे ज्यादा सम्भल के लोग आगे आये है। जब वह लखनऊ में रहते थे वही के नेता थे जब भी उन्होंने कॉल किया तो सम्भल से गाड़ियां लेकर हम पहुंचे और हमेशा उनका साथ दिया। मुलायम सिंह एक किसान नेता थे, वो हमेशा किसानों के हमदर्द थे, उन्होंने हमेशा गरीबों का काम किया, गरीबों के काम आए, हिंदू मुस्लिम को जोड़ने की कोशिश की। इसलिए वह सब गरीबों के आवाम के हिंदू मुसलमानों के सब के काम आते थे इसलिए वह नेता कहलाये। वह नाम के नेता नहीं बल्कि अपने अमल से नेता थे। वह समाज को जोड़ना चाहते है। हिंदुस्तान को ऊपर ले जाना चाहते है। हिंदुस्तान की तरक्की चाहते हैं। आज वह दुनिया में नहीं है। उन्होंने जो जिंदगी में अपने काम किए हैं देश के लिए काम किया है हिंदू मुसलमानों के लिए काम किया। सम्भल की जनता के लिए काम किया है हर जनता के लिए काम किया है उनके गुजर जाने का लोगों को बहुत ज्यादा तकलीफ है, दुख है। हम यही दुआ करते हैं कि उनके पुत्र अखिलेश यादव जिनके हाथ में समाजवादी पार्टी की कमान है। वह भी सबको जोड़ कर चले मिलकर चले हैं और उनके भाई रामगोपाल यादव जो उनके साथ हैं, लेकिन शिवपाल से उनके इख़्तेलाफ़ हैं उनके सारे खानदान के लोग एक हो और समाजवादी को मिलकर मजबूत करें। इससे समाजवादी को सबसे ज्यादा ताकत मिलेगी। उनके मरने के बाद पूरा परिवार एक हो जाए तो यह समाज के लिए भी अच्छा होगा और घर के लिए भी अच्छा होगा। रिपोर्टर – उवैस दानिश

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button