क्राइम न्यूज़

बहन ने भाई को कब्र से निकालकर दिलाया इंसाफ, जानिए पूरा मामला

राजस्थान के जोधपुर में देचु थाना इलाके की एक बहन ने अपने भाई की मौत के बाद मामले पर शक जताया और खुद तफ्तीश में लग गयी

राजस्थान के जोधपुर में देचु थाना इलाके की एक बहन ने अपने भाई की मौत के बाद मामले पर शक जताया और खुद तफ्तीश में लग गयी. बहन को अपने भाई की खुदकुशी पर शक था और बहन का ये शक सही भी निकला. पुलिस की मदद से बहन ने भाई के शव को कब्र से निकलवाया और पोस्टमार्टम के बाद सच सबके सामने आ गया. पोस्टमार्टम से युवक की हत्या की पुष्टि हुई और मामले में तीन आरोपी जो मृतक के ही चचेरे भाई बताये जा रहे हैं को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया. आरोपियों ने पुलिस को बताया कि 29 जनवरी की रात कोजे घर पर अकेला था. इस पर चचेरे भाईयों ने शाम को बरकत को साजिश के तहत कोजे के घर भेजा. दोनों खाना खाकर सो गए. जब कोजे सो गया तो बरकत ने अपने दोनों भाइयों निसार और कोजू को फोन कर घर में बुला लिया. तीनों ने कोजे की गला दबाकर कोजे की हत्या कर दी और शव को रस्सी से कमरे में लटका कर खुदकुशी का रूप दिया. अगली सुबह पड़ोसियों को कोजे के सुसाइड करने की बात कहकर आनन फानन में शव का दफना भी दिया. आरोपियों ने बताया की संपत्ति के लालच में उन्होने भाई को मारा और खुदकुशी का रूप दिया लेकिन बहन ने 15 दिन बाद भाई के शव को क्रब से निकलवाकर जांच करायी और पोस्टमार्टम में सच सबके सामने आ गया. बहन के मामले की रिपोर्ट दर्ज कराते ही सभी आरोपी भाग गये थे जिनको पुलिस ने जैसलमेर से पकड़ा. सभी आरोपी निसार खां, बरकत खां और अब्दुल खां ने हत्या करना कबूल लिया है. पुलिस का कहना है कि आरोपी भाईयों के पिता अब्दुल खां की 2 साल पहले कोजे खां के घर संदेहास्पद स्थिति में मौत हो गई थी. आरोपियों को पिता की मौत को लेकर कोजे पर शक था. कोजे के पिता सरादीन खां की भी मौत हो चुकी थी. ऐसे में कोजे अकेला जायदाद का वारिस था. जमीन जायदाद हड़पने की नियत से चचेरे भाईयों ने कोजे खां की हत्या कर दी.  

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button