देशब्रेकिंग न्यूज़

राजधानी दिल्ली में अब तक डेंगू के 153 मामले आये सामने

पिछले साल एक जनवरी से नौ जुलाई के बीच दिल्ली में डेंगू के 38 मामले दर्ज किए गए थे

राजधानी दिल्ली में डेंगू का खतरा निरंतर बढ़ता ही जा रहा है। इस साल अब तक डेंगू के 153 मामले सामने आ चुके हैं, जिनमें से 10 नए मामले बीते एक हफ्ते में आए हैं। सोमवार को दिल्ली नगर निगम की ओर से जारी की गई रिपोर्ट में यह जानकारी सामने आई है। एमसीडी के जन स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों के मुताबिक राष्ट्रीय राजधानी में इस साल की शुरुआत से ही डेंगू के मामले दर्ज किए गए।

रिपोर्ट की माने तो , दो जुलाई तक दिल्ली में डेंगू के 143 मामले दर्ज किए गए थे और नौ जुलाई को यह संख्या बढ़कर 153 हो गई। बता दे कि इस साल जनवरी में दिल्ली में डेंगू के 23, फरवरी में 16, मार्च में 22, अप्रैल में 20, मई में 30 और जून में 32 मामले दर्ज किए गए थे, जबकि जुलाई में नौ तारीख तक दस नए मरीज सामने आ चुके हैं। हालांकि राहत की बात तो यह है कि शहर में मच्छर जनित इस बीमारी से अब तक मौत का एक भी मामला सामने नहीं आया है।

पिछले साल एक जनवरी से नौ जुलाई के बीच दिल्ली में डेंगू के 38 मामले दर्ज किए गए थे, और इस साल करीब चार गुना ज्यादा मामले सामने आए हैं। बता दे की यह पांच साल में डेंगू के सर्वाधिक मामले हैं। 2017 में डेंगू के 77 मामले, 2018 में 36 मामले, 2019 में 27 मामले और 2020 में 22 मामले आए थे।

आमतौर पर डेंगू के अधिकतर मामले जुलाई से नवंबर के बीच सामने आते हैं, लेकिन पिछले साल यह अवधि मध्य दिसंबर तक खिंच गई थी। जबकि इस साल जनवरी में ही डेंगू के 23 मामले सामने आ गए थे।

दिल्ली में पिछले साल डेंगू के कुल 9,613 मामले दर्ज किए गए थे, जो 2015 के बाद सबसे अधिक थे। उस दौरान दिल्ली में डेंगू ने 23 मरीजों की जान ली थी। दिल्ली में डेंगू से मौतों का यह आंकड़ा 2016 के बाद से सर्वाधिक था। 2019 में दिल्ली में डेंगू से दो, 2018 में चार और 2017 में 10 मौतें दर्ज की गई थी। आधिकारिक आंकड़ों के अनुसार , 2016 में दिल्ली में डेंगू के 4,431, 2017 में 4,726, 2018 में 2,798, 2019 में 2,036 और 2020 में 1,072 मामले सामने आए थे। साल 2015 में शहर में बड़े पैमाने पर डेंगू का प्रकोप देखने को मिला था और अकेले अक्तूबर माह में 10,600 से अधिक नए मामले दर्ज किए गए थे।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button