तकनीक

Jio को 93 लाख यूजर्स ने कहा टाटा बाय बाय

रिलायंस जियो (Reliance Jio) के वायरलेस मोबाइल यूजर्स की संख्या में जनवरी 2022 में गिरावट दर्ज की गई है।

टेलिकॉम सर्विस इस्तेमाल करने वाले यूजर्स की संख्या जनवरी 2022 में घटकर 116.9 करोड़ रह गई है। जबकि दिसंबर 2021 में यह आंकड़ा 117.8 करोड़ था। टेलिकॉम रेगुलेटरी अथॉरिटी ऑफ इंडिया यानी ट्राई के आंकड़ों के मुताबिक दिसंबर 2021 के मुकाबले जनवरी 2022 में रिलायंस जियो के यूजर्स की संख्या में 93.22 लाख की गिरावट दर्ज की गई है। यह लगातार दूसरा माह है, जब जियो की संख्या में गिरावट दर्ज की गई है। 

किसके कितने घटे यूजर्स 

वोडाफोन आइडिया (Vi) के वायरलेस सब्सक्राइबर्स की संख्या जनवरी 2022 में 3.89 लाख घट गई है। जबकि बीएसएनएल सब्सक्राइबर्स संख्या 3.77 लाख घट गई है। वही एमटीएनएल की संख्या में 331 यूजर्स की कमी दर्ज की गई है। ट्राई की रिपोर्ट के मुताबिक भारत में टेलिकॉम सब्सक्राइबर्स की संख्या में मंथली बेसिस पर करीब 0.76 फीसदी की गिरावट दर्ज की गई है। वायरलेस सब्सक्राइबर्स की संख्या 0.81 फीसदी घटकर 114.52 करोड़ रह गई है। जो दिसंबर में 115.46 करोड़ थी।

इन सर्किल में जियो का हुआ नुकसान 

मुंबई, महाराष्ट्र और जम्मू कश्मीर को छोड़ दें, तो रिलायंस जियो के ग्राहकों की संख्या देशभर के सभी टेलिकॉम सर्किल में घटी है। वही दूसरी तरह भारती एयरटेल के यूजर्स की संख्या में जनवरी में 7.1 लाख की बढ़ोतरी हुई है। बता दें कि भारत के कुल टेलिकॉम सब्सक्राइबर्स बेस में मोबाइल वायरलेस सब्सक्राइबर्स की हिस्सेदारी सबसे ज्यादा करीब 98 फीसदी है।

वायरलाइन सब्सक्राइबर्स संख्या 

वायरलाइन सब्सक्राइबर्स के मामले में जियो को 3.08 लाख नए सब्सक्राइबर्स मिले हैं। दिसंबर 2021 के मुकाबले जियो के वायरलाइन सब्सक्राइबर्स बढ़कर 24.21 हो गए हैं। रिलायंस जियो के बाद भारती एयरटेल ने 94,010 ग्राहक जोड़े, बीएसएनएल ने 32,098 और Quadrant ने 16,749 को जोड़ा। एमटीएनएल जनवरी में 23,475 ग्राहकों वायरलाइन ग्राहकों को खो दिया। आरकॉम, टाटा टेलीसर्विसेज और वोडाफोन आइडिया ने भी वायरलाइन ग्राहकों को खो दिया।

ब्रॉडबैंड यूजर्स

रिपोर्ट के मुताबिक दिसंबर 21 के अंत में कुल ब्रॉडबैंड यूजर्स की संख्या 792.08 मिलियन से घटकर जनवरी 2022 के अंत में 783.43 मिलियन हो गई, जिसमें प्रतिमाह के हिसाब से 1.1 प्रतिशत की गिरावट दर्ज की गई।

किसके कितने ब्रॉडबैंड यूजर्स 

  • रिलायंस जियो – 41.12 करोड़
  • भारती एयरटेल – 21 करोड़
  • वोडाफोन आइडिया – 12.1 करोड़
  • बीएसएनएल – 2.62 करोड़
  • अटरिया कन्वर्जेंस – 20 लाख

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button