देशब्रेकिंग न्यूज़

संभल में गांधी जयंती पर सपा का हाई वोल्टेज ड्रामा

पूर्व जिलाध्यक्ष द्वारा संगमरमर की महात्मा गांधी की प्रतिमा जयपुर से मंगाई थी

सम्भल में काफी सुर्खियों में रहने वाले पूर्व जिलाध्यक्ष आज फिर अपने कारनामे से सुर्खियां बटोर रहे हैं। चार साल पहले बापू की प्रतिमा पर रोये और आज बापू की प्रतिमा लगाने के लिए चौराहे पर जाने का ड्रामा करने लगे मगर पुलिस ने उन्हें रोक दिया।

उत्तर प्रदेश के जनपद सम्भल में समाजवादी पार्टी के पूर्व जिलाध्यक्ष फिरोज खान का दो अक्टूबर गांधी जयंती पर हाई वोल्टेज ड्रामा देखने को मिला है। चार साल से लगातार समाजवादी पार्टी के कार्यकर्ता गांधी जयंती पर हाई वोल्टेज ड्रामा करते आ रहे हैं। इससे पहले सोशल मीडिया पर लगातार वायरल सपा नेता व उनके कार्यकर्ताओं का गांधी मूर्ति पर रोना चर्चा का विषय बना था। पूर्व जिलाध्यक्ष द्वारा संगमरमर की महात्मा गांधी की प्रतिमा जयपुर से मंगाई गई थी, मगर उसे लगाने के लिए आज तक सरकार ने कोई जमीन नहीं दी है। इसी को लेकर आज फिर राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की मूर्ति लगाने की कोशिश की पूर्व जिलाध्यक्ष ने कार्यकर्ताओं के साथ कार के काफिले के साथ की। एक कार की डिग्गी में बापू की प्रतिमा छुपाकर चौधरी सराय चौराहे पर लगाने का फैसला लिया था, मगर इसकी सूचना पुलिस को मिल गई। पुलिस ने नाकाबंदी कर पक्का बाग सरायतरीन के नजदीक कार रोक ली। जब तलाशी ली गई तो उनकी कार से गांधी जी की मूर्ति रखी मिली। पुलिस ने समझा-बुझाकर मूर्ति कार से निकालकर इनके निजी कार्यालय पर ले गए और वहां पर मूर्ति को रखा। पूर्व जिलाध्यक्ष फिरोज खान ने गांधी प्रतिमा पर माल्यार्पण कर गांधी जयंती को कार्यकर्ताओं के साथ मनाया। काफी समय से पूर्व जिला अध्यक्ष की मूर्ति स्थापित करने की मांग चली आ रही है, जिसे लेकर वह प्रशासनिक अधिकारियों को ज्ञापन भी दे चुके हैं मगर अभी तक उनकी यह मांग पूरी नहीं हो सकी है। अब देखना होगा कि कब तक पूर्व जिलाध्यक्ष की गांधी प्रतिमा की स्थापना की मांग पूरी हो पाती है।

बाईट – फ़िरोज़ खान, पूर्व जिलाध्यक्ष

रिपोर्टर – उवैस दानिश

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button