क्राइम न्यूज़

बड़े अपराधियों को सीमापार से हो रही हथियारों की सप्लाई,

गैंगस्टर्स को सीमापार से भी कुछ संगठन हथियार मुहैया कराने में जुटे हैं

इस बात का खुलासा खुफिया सूचना में हुआ है। खुफिया इकाइयों ने इस बारे में जांच एजेंसियों को चेताते हुए ऐसे लोगों पर नजर रखने को कहा है। दरअसल, खुफिया सूचना में कहा गया है कि सीमापार से आतंकियों या आतंकी संगठनों से जुड़े स्लीपर सेल को ही नहीं, बल्कि गैंगस्टर्स को भी हथियारों की सप्लाई हो रही है। इस सूचना के मद्देनजर जहां सीमा सुरक्षा से जुड़ी एजेंसियों को चौकन्ना रहने को कहा गया है, वहीं दिल्ली-एनसीआर व पंजाब के गैंगस्टर्स के पूरे नेटवर्क को खंगाल उन्हें सीमापार के तस्करों से जोड़ने वाली कड़ी को लेकर चौकसी बरतने को कहा गया है। खास बात यह यह है कि खुफिया सूचना में यह बात सामने आ रही है कि हथियार सप्लायर गैंगस्टर्स तक पहुंचने में ड्रग सप्लायर की मदद ले रहे हैं, जिनका नेटवर्क पहले से जमा हुआ है। दरअसल, नार्को टेररिज्म की दिशा में काम करने वाली एजेंसियां एक के बाद एक लगातार विदेशों से ड्रग की सप्लाई करने वाले लोगों की गिरफ्तारी कर रही है। इस दौरान कई बार तस्करों के साथ कुछ हथियार भी दबोचे गए। इसके बाद खुफिया इकाइयों ने संदिग्धों को लेकर सूचनाएं एकत्र करना शुरू किया तो पता चला कि पहले आतंकी संगठनों के स्लीपर सेल को सीमापार के स्रोत से हथियार मुहैया कराया जाता था, लेकिन, अब गैंगस्टर्स को भी हथियारों की सप्लाई करने में सीमापार के लोग जुटे हैं। इस काम में पाकिस्तानी खुफिया आईएसआई इनकी मदद कर रही है।
इन सात राज्यों से दिल्ली आते हैं हथियार : भारतीय तस्करों के खिलाफ की गई कार्रवाई के दौरान इस बात का खुलसा हुआ है कि इनका नेटवर्क दिल्ली सहित यूपी, पंजाब, हरियाणा, मध्य प्रदेश, महाराष्ट्र, बिहार और झारखंड में हैं। सोशल मीडिया का हो रहा है इस्तेमाल : पिछले दिनों ऑनलाइन माध्यम से कुछ प्रतिबंधित संगठनों से लेकर कुख्यात गैंगेस्टर के नाम पर भी सोशल मीडिया पर हथियारों की खरीद-फरोख्त होने की जानकारी सामने आई थी। इसके बाद जानकारी जुटाई गई तो यह पता चला कि सीमापर से इस तरह के हथकंडों को अपनाया जा रहा है।  

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button