देश

केरल CM के साथ मेरे निजी रिश्ते नहीं दोस्ती- स्वप्ना सुरेश

: साल 2020 में स्वप्ना सुरेश को बेंगलुरु से NIA ने गिरफ्तार किया था. जांच एजेंसी ने तस्करी मामले के आतंकवाद कनेक्शन की जांच के लिए स्वप्ना के खिलाफ यूएपीए के तहत केस दर्ज किया था.

 केरल में सोना तस्करी के मामले (Kerala Gold Smuggling Case) मामले की मुख्य आरोपी स्वप्ना सुरेश ने कहा है कि मुख्यमंत्री पिनाराई विजयन से उनके पर्सनल रिश्ते नहीं थे. बल्कि दोनों के बीच प्रोफेशनल संबंध थे. साथ ही उन्होंने कहा की वो सीएम से उनके पूर्व प्रिंसिपल सेक्रेटरी शिवाशंकर के जरिए संपर्क करती थी और दोनों के बीच कोई सीधी बातचीत नहीं थी. बता दें कि पिछले साल केरल हाईकोर्ट ने स्वप्ना सुरेश को ज़मानत पर रिहा किया था. इस मामले में केरल के मुख्यमंत्री के पूर्व प्रधान सचिव शिवशंकर, यूएई वाणिज्य दूतावास के पूर्व कर्मचारियों, सुरेश और सरित पी एस सहित कई लोगों को गिरफ्तार किया गया था. बता दें कि साल 2020 में स्वप्ना सुरेश को बेंगलुरु से NIA ने गिरफ्तार किया था. जांच एजेंसी ने तस्करी मामले के आतंकवाद कनेक्शन की जांच के लिए स्वप्ना के खिलाफ यूएपीए के तहत केस दर्ज किया था. इससे पहले ईडी की ओर से कहा गया कि स्वप्ना सुरेश और एम शिवशंकर से जब्त मोबाइल के व्हाट्स ऐप चैट्स से पता चला था कि पूर्व प्रधान सचिव गोपनीय जानकारियां स्वप्ना के साथ शेयर कर रहे थे. समाचार एजेंसी एनएनआई से बातचीत करते हुए स्वप्ना सुरेश  ने कहा, ‘मेरा सीएम के साथ कोई निजी संबंध नहीं है. मेरे सिर्फ प्रोफेशनल रिश्ते थे. मैं हमेशा केरल के सीएम के पूर्व प्रधान सचिव शिवशंकर  के जरिए बातचीत करती थी. केरल के पूर्व स्पीकर शिवशंकरपी श्रीरामकृष्णन के साथ मेरी अच्छी और सच्ची दोस्ती थी. साथ ही पारिवारिक संबंध थे.’ क्या है पूरा मामला? आरोप है कि केरल में राजनयिकों को मिलने वाली सुविधाओं का दुरुपयोग कर सोने की तस्करी की जा रही थी. 5 जुलाई 2019 को तिरुवनंतपुरम में सीमा शुल्क विभाग ने मामले का भंडाफोड़ किया था. एनआईए ने अदालत को बताया था कि सुरेश और अन्य ने नवंबर 2019 से जून 2020 के बीच संयुक्त अरब अमीरात से भारत में 167 किलोग्राम सोने की तस्करी की थी.  

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button