देशब्रेकिंग न्यूज़

छाता में असत्य की सत्य पर जीत के रूप में हुआ रावण के पुतले का दहन

इस बार 55 फीट का रावण बनाया गया है

छाता में पांच अक्टूबर को संध्या बेला में रावण का पुतला दहन किया जाएगा । कोविड के कारण पिछले दो वर्षों से रावण दहन नहीं हो पा रहा था । इस बार 55 फीट का रावण बनाया गया है। रावण का वध होते ही चारो तरफ जय श्रीराम के नारे लगे | लगभग एक घंटे तक आसमान में रंगीन आतिशबाजी का सुंदर नजारा देखने को मिला । लोग आतिशबाजी के इस नजारे को देखकर मंत्रमुग्ध हो गए ।

बुधवार को छाता नगर के सिनेमा हॉल के पास ग्राउंड में 55 फिट ऊंचा रावण का पुतला बनाया गया था | श्री रामलीला ग्राउंड में चल रही रामलीला में लक्ष्मण मेघनाद व राम – रावण के बीच घमासान युद्ध हुआ। और रावण व मेघनाद दोनों मारे गये। रावण दहन करने को श्री राम व मुख्य अतिथि रतन कुमार गुप्ता ने तीर छोड़कर पुतले में आग लगाई। रावण दहन कार्यक्रम में हजारों की संख्या में महिला व पुरुष शामिल हुए । रावण दहन के नजारे को देखने के लिए पूरा मैदान खचाखच भरा हुआ था । यहां तक कि लोग आस-पास के भवन, सड़क आदि से इस नजारे को देख रहे थे रावण दहन के कार्यक्रम में पधारे मुख्य अतिथि चेयरमैन प्रत्यशी रतन कुमार गुप्ता का रामलीला कमेटी के पदाधिकारियों ने दुपटा व पगड़ी पहनाकर स्वागत किया। ततपश्चात ही रामलीला कमेटी के कार्यकर्ताओं ने सीओ छाता व कोतवाली प्रभारी अशोक कुमार के साथ समस्त स्टाफ का स्वागत किया। वही रावण दहन मेले की पूरी व्यवस्था में राजपूत एकता शक्ति सगठन व गो रक्षक दल के कार्यकर्ताओं ने अपनी पूरी सहभागिता निभाई।

इस मौके पर सीओ छाता गौरव त्रिपाठी , कोतवाली प्रभारी अशोक कुमार , केके पाठक , श्री रामलीला के उपाध्यक्ष बीरी सिंह, मंत्री राकेश गुप्ता , कोषाध्यक्ष प्रमोद जोंटी , मीडिया प्रभारी राजू गुप्ता आदि मौजूद रहे |

 

रिपोर्ट /- प्रताप सिंह

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button