बिज़नेस

IPO बाजार में बढ़ेगी हलचल

Speciality chemical कंपनी Prasol Chemicals ने सेबी के पास IPO लाने के लिए प्रारंभिक दस्‍तावेज जमा कराए हैं।

फाइनेंशियल ईयर 2023 में कैपिटल मार्केट में हलचल तेज होने वाली है। क्‍योंकि अलग-अलग सेक्‍टर की कंपनियां बाजार नियामक सेबी के पास IPO (Initial Public offer) लाने के लिए दस्‍तावेज जमा कर रही हैं। अब स्‍पेशियलिटी केमिकल कंपनी Prasol Chemicals ने सेबी के पास 800 करोड़ रुपये के IPO के प्रारंभिक दस्‍तावेज जमा कराए हैं। इस ऑफर में 250 करोड़ रुपये के ताजा शेयर होंगे और 90 लाख शेयरों का ऑफर फॉर सेल (OFS) भी साथ में आएगा।

Draft red herring prospectus (DRHP) के मुताबिक कंपनी बाद में 50 करोड़ रुपये का इश्‍यू भी प्‍लान कर सकती है। बाजार के सूत्रों के मुताबिक कंपनी 700 से 800 करोड़ रुपये जुटाना चाहती है। इश्‍यू से जुटने वाली रकम का इस्‍तेमाल कर्ज के निपटारे और कारोबार के विस्‍तार में होगा। इसके साथ ही फंड का इस्‍तेमाल दूसरे काम में भी होगा।

क्‍या करती है कंपनी

Prasol Chemicals अपनी स्‍थापना के बाद से ही एसीटोन और फॉसफोरस डेरिवेटिव्‍स की मैन्‍युफैक्‍चरिंग से जुड़ी है। कंपनी ने अपने कारोबार का विस्‍तार भी किया है। उसे खुद को छोटी कंपनी से बड़े बिजनेस हाउस में डाइवर्सिफाइ किया है। उसके पोर्टफोलियो में शामिल कई एसिटोन और फासफोरस डेरिवेटिव्‍स का इस्‍तेमाल फार्मा और दूसरी कंपनियां करती हैं। होम और पर्सनल केयर प्रोडक्‍ट्स मसलन सनस्‍क्रीन, शैंपू, फ्लेवर, फ्रैगरेंस और डिस्‍इंफेक्‍टेंट में भी इसके एसिटोर और फासफोरस का इस्‍तेमाल होता है।

कंपनी के वित्‍तीय परिणाम

दिसंबर 2021 में खत्‍म नौ माह की अवधि में कंपनी का प्रॉफिट 50 करोड़ रुपये रहा था। कारोबारी साल 2021 और 2020 में यह आंकड़ा क्रमश: 25 करोड़ और 37 करोड़ रुपये था। इस दौरान उसका राजस्‍व 626.93 करोड़ रुपये रहा। जबकि इससे पहले के वित्‍त वर्षों में यह आंकड़ा 595.54 करोड़ रुपये और 531.24 करोड़ रुपये रहा था

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button