बिज़नेस

घर बैठे जेनरेट कर सकते हैं SBI का डेबिट कार्ड पिन, बस करना होगा ये काम

भारतीय स्टेट बैंक (SBI) ने ग्राहकों की सुविधा के लिए आईवीआर सिस्‍टम शुरू किया है. अब SBI कस्टमर्स किसी भी तरह की गड़बड़ी या परेशानी होने पर डेबिट कार्ड का नया पिन जेनरेट कर सकते हैं.

SBI Debit Card PIN Generation: देश की सबसे बड़ी सरकारी बैंक भारतीय स्टेट बैंक (SBI) ने ग्राहकों की सुविधा के लिए आईवीआर सिस्‍टम शुरू किया है. अब SBI कस्टमर्स किसी भी तरह की गड़बड़ी या परेशानी होने पर डेबिट कार्ड का नया पिन जेनरेट कर सकते हैं. सिर्फ एक फोन कॉल से उन्हें ये पिन मिल सकता है. खास बात ये है कि रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर के अलावा अन-रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर से भी वो नया पिन या ग्रीन पिन जेनरेट कर सकते हैं. आइए बताते हैं कैसे.

SBI ने ट्टीट करके दी जानकारी

आपको बता दें कि इस सर्विस की घोषणा SBI ने हाल ही में अपने ट्विटर हैंडल से ट्टीट करके दी. इसमें कहा गया है कि ‘आप टोल-फ्री आईवीआर सिस्टम के जरिए आसानी से डेबिट कार्ड पिन या ग्रीन पिन जेनरेट कर सकते हैं. 1800 1234 पर कॉल करने में संकोच न करें.’

IVR के जरिए जेनरेट करें पिन

एसबीआई ने अपने कॉन्टैक्स सेंटर्स के जरिए ये काम और आसान कर दिया है. इन सेंटर्स के IVR के जरिए ग्राहक डेबिट कार्ड पिन या ग्रीन पिन जेनरेट कर सकते हैं. इसके लिए रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर से टोल-फ्री नंबर 1800-11-22-11 या 1800-425-3800 पर कॉल करना होगा. यहां कॉल करने के बाद एसबीआई कस्टमर्स को एटीएम/डेबिट कार्ड से जुड़ी सर्विसेज के लिए 2 दबाना होगा. इसके बाद पिन जनरेट करने के लिए 1 दबाना होगा.

एजेंट से भी कर सकते हैं बात 

अगर वह रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर से कॉल कर रहे हैं तो 1 दबाना होगा. एजेंट से बात करने के लिए 2 दबाना होगा. यदि कोई रजिस्टर्ड मोबाइल से कॉल कर रहा है, तो 1 दबाने के बाद उसे अंतिम पांच अंक दर्ज करने होंगे. ये 5 डिजिट उस एटीएम कार्ड के होंगे जिसके लिए वह ग्रीन पिन जेनरेट करना चाहता है. फिर से अंतिम पांच डिजिट कंफर्म करने के लिए 1 दबाना होगा. उसके बाद एटीएम कार्ड के अंतिम पांच अंक दोबारा दर्ज करने के लिए 2 दबाना होगा.

24 घंटे में बदलना होगा पिन 

इसके बाद अपने जन्म का साल दर्ज करना होगा. इसके साथ ही SBI कस्टमर का ग्रीन पिन जेनरेट हो जाएगा. यह पिन रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर भेजा जाएगा. वहीं 24 घंटे के अंदर किसी भी एसबीआई एटीएम पर जाकर इस पिन को बदलना होगा. यदि रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर से कई सीआईएफ (customer information file) जुड़े हुए हैं, तो आईवीआर कॉन्टैक्ट सेंटर एजेंट को कॉल ट्रांसफर कर देगा.  

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button