देश

प्राइमरी स्कूल टीचर की बेटी बनी IPS अफसर हाई स्कूल में मिले 63% नंबर

IPS Officer Ayman Jamal Success Story: उत्तर प्रदेश के गोरखपुर के रहने वाली ऐमन जमाल (Ayman Jamal) ने यूपीएससी एग्जाम (UPSC Exam) पास कर आईपीएस बनने का सपना पूरा किया और एक रोल मॉडल रूप में उभरकर सामने आईं.

संघ लोक सेवा आयोग की सिविल सर्विस एग्जाम (UPSC Civil Service Exam) देने वाले हर कैंडिडेट का सपना सफलता हासिल करना होता है, लेकिन कई छात्रों का असफलता से हौसला टूट जाता है, जबकि कुछ छात्र ऐसे भी होते हैं जो मिसाल कायम करते हैं. ऐसी ही कुछ कहानी उत्तर प्रदेश के गोरखपुर के रहने वाली ऐमन जमाल (Ayman Jamal) की है, जिन्होंने यूपीएससी एग्जाम पास कर आईपीएस बनने का सपना पूरा किया और एक रोल मॉडल रूप में उभरकर सामने आईं.

10वीं में आए थे सिर्फ 63 प्रतिशत नंबर

ऐमन जमाल (Ayman Jamal) पढ़ाई में शुरुआत से ही एवरेज स्टूडेंट थीं और उन्होंने 10वीं में सिर्फ 63 अंक हासिल किए थे. इसके बाद 12वीं भी उनका प्रदर्शन कुछ खास नहीं रहा और उन्होंने सिर्फ 69 प्रतिशत नंबर के साथ इंटरमीडिएट की परीक्षा पास की. सेंट एंड्रयूज कॉलेज से जंतु विज्ञान विषय से 2010 में ग्रेजुएशन परीक्षा ​(Graduation Exam) ​पास की थी.

2016 में शुरू की प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी

12वीं के बाद ऐमन जमाल (Ayman Jamal) ने गोरखपुर के सेंट एंड्रयूज कॉलेज से बायोलॉजी में ग्रेजुएशन किया और फिर अन्नामलाई यूनिवर्सिटी से डिस्टेंस से ह्यूमन रिसोर्स में डिप्लोमा किया. इसके बाद ऐमन प्रतियोगिता परीक्षाओं की तैयारी के लिए दिल्ली के रेजिडेंशियल कोचिंग एकेडमी जामिया हमदर्द चली गईं.

केंद्रीय श्रम विभाग में चयन

ऐमन जमाल (Ayman Jamal) का चयन साल 2017 में चयन केंद्रीय श्रम विभाग में हुआ. इसके बाद वह साल 2018 में ऑर्डिनेंस क्लोदिंग फैक्ट्री शाहजहांपुर में सहायक श्रमायुक्त के पद पर नियुक्त हुईं. हालांकि इसके बावजूद उन्होंने नौकरी के साथ ही यूपीएससी एग्जाम की तैयारी भी जारी रखी.

पहले प्रयास में बनीं आईपीएस अफसर

ऐमन जमाल (Ayman Jamal) ने साल 2018 में पहली बार यूपीएससी की सिविल सेवा परीक्षा दी और प्रारंभिक परीक्षा में सफलता हासिल की. प्रारंभिक परीक्षा पास करने के बाद ऐमन ने सामाजिक विज्ञान विषय से मुख्य परीक्षा दी. इंटरव्यू के बाद ऐमन ने 499वीं रैंक हासिल की और उनका चयन आईपीएस के लिए हुआ.

प्राइमरी स्कूल टीचर हैं ऐमन जमाल की मां

ऐमन जमाल (Ayman Jamal) के पिता हसन जमाल एक व्यवसायी हैं, जबकि उनकी मां अफरोज बानो एक प्राइमरी स्कूल में टीचर (Primary School Teacher) हैं. ऐमन की चार बहनें और एक भाई हैं. दो बहनें और भाई डॉक्टर हैं. एक बहन एमबीए तो छोटी बहन हाईस्कूल की पढ़ाई कर रही है. ऐमन अपनी सफलता का श्रेय अपने परिवार को देती है और कहती हैं कि पढ़ाई में मां ने बहुत ध्यान दिया, जिस वजह से प्रशासनिक सेवा की तैयारी की राह आसान हो गई.

ऐमन ने इंटरनेट के जरिए की पढ़ाई

ऐमन जमाल (Ayman Jamal) का कहना है कि यूपीएससी की परीक्षा पास करने के लिए शॉर्टकट की कोई जगह नहीं है. वह कहती हैं कि आज के दौर में इंटरनेट से पढ़ाई बेहतर विकल्प बनकर उभरा है और इंटरनेट के जरिए अच्छा कंटेंट तक मिल गया, जिससे उन्हें काफी मदद मिली. इंटरनेट के जरिए पढ़ाई का खर्च भी बेहद कम आता है, लेकिन पढ़ाई पर फोकस करना बेहद जरूरी है.

सीएम योगी ने बताया रोल मॉडल

ऐमन जमाल (Ayman Jamal) ने कठिन मेहनत के बाद सफलता पाई, जिसके बाद उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) ने तारीफ की. सीएम योगी ने गोरखनाथ में ऐमन से मुलाकात की थी और उनको बधाई थी. इसके साथ ही उन्होंने कहा कि ऐमन जमाल मुस्लिम महिलाओं के लिए आज रोल मॉडल बनकर उभरी हैं.  

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button