देशब्रेकिंग न्यूज़विदेश

भारत में भी बसेगा चीतों का कुनबा, 74 साल बाद होगी देश में वापसी

भारत में एक बार फिर चीतों का कुनबा बसने जा रहा है। देश की धरती पर करीब 74 सालों के बाद जंगल की इस विशेष प्रजाति की वापसी होने जा रही है।

भारत में एक बार फिर चीतों का कुनबा बसने जा रहा है। देश की धरती पर करीब 74 सालों के बाद जंगल की इस विशेष प्रजाति की वापसी होने जा रही है। इन्हें नामीबिया से भारत लाया जा रहा है। खबर है कि बी 747 नामीबिया पहुंच गया है और ये 8 चीते आज भारत के लिए उड़ान भरेंगे और शनिवार को देश की सरजमीं पर कदम रखेंगे।

बतादें कि नामीबिया से विशेष समझौते के तहत ये चीते भारत लाए जा रहे हैं। बी 747 जंबो जेट ने नामीबिया की राजधानी विंडहोक स्थित होस कुताको इंटरनेशनल एयरपोर्ट से उड़ान भरेगा। इस दौरान कुल 8 चीते सवार होंगे। इनमें तीन नर और 5 मादा चीते शामिल हैं।17 सितंबर को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अपने जन्मदिन पर मध्य प्रदेश के कूनो नेशनल पार्क में इन्हें छोड़ेंगे। चीतो के विलुप्त होने के बाद भारत ने कई जगहों पर इनकी वापसी का मन बना लिया था। ऐसे में कूनो नेशनल पार्क को यह गौरव प्राप्त हुआ और यहां शनिवार को चीते पहुंच रहे हैं। बतादें कि पार्क में जानवरों के लिए खास सुविधाओं का इंतजाम किया गाया है। स्टाफ को विशेष ट्रेनिंग दी गई है। सबसे पहले ये चीते 17 सितंबर को जयपुर पहुंचेंगे। जयपुर हवाई अड्डे पर चीतों के स्वास्थय मूल्यांकन के लिए एक विशेष टीम तैयार रहेगी। इन चीतों के जयपुर पहुंचने के मद्देनजर जयपुर हवाई अड्डे पर विशेष व्यवस्थाएं की गई हैं और इसके लिए वन विभाग, हवाई अड्डा, सुरक्षा में लगी सीआईएसफ की बैठक हुई जिसमें सभी आवश्यक व्यवस्थाओं के बारे में विचार विमर्श किया गया। इन चीतों के जयपुर पहुंचने के कुछ देर में ही उन्हें वायुसेना के दो चिनूक हैलीकाप्टरों से मध्यप्रदेश ले जाया जायेगा। जिसके लिए वायुसेना का एक चिनूक हैलीकाप्टर जयपुर पहुंच चुका है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button