देश

बिहार: चुनाव प्रचार के दौरान कैंडिडेट को हुआ प्यार,इलेक्शन हारे पर प्यार की हो गई जीत

बिहार के वैशाली की एक प्रेम प्रसंग की खूब चर्चा हो रही है। जिले में एक उम्मीदवार को चुनाव प्रचार के दौरान गांव की युवती से प्यार हो गया।

प्रेम प्रसंग की कहानियां तो आपने बहुत सुनी होंगी। लेकिन नालंदा के करायपरशुराय में युवक-युवती के प्यार के किस्से की खूब चर्चा हो रही है। बीते पंचायत चुनाव के दौरान सरपंच का चुनाव लड़ रहे लड़के को चुनाव प्रचार के दौरान एक लड़की से प्यार हो गया। धीरे- धीरे प्यार परवान चढ़ा कि दोनों ने शादी करने की ठान ली, लेकिन घर वालों की नाराजगी के डर से दोनों छुप छुपकर मिलते रहे। अब गांव वालों ने बात को आगे बढ़ते देख उन दोनों की शादी करवा दी गई।

चुनाव प्रचार के दौरान हुआ प्यार

बताया जाता है कि जिले के छितर बिगहा गांव के रामप्रवेश रविदास का लड़का घनश्याम ने रविदास पंचायत चुनाव में सरपंच पद के लिए चुनाव लड़ा था। पंचायत चुनाव के दौरान प्रचार प्रसार करने के लिए चन्दकुरा गांव निवासी रामाश्रय रविदास का पुत्र रविकांत रविदास अपने रिश्तेदार के यहाँ छितर बीघा गांव आया था, इसी  बीच रविकांत रविदास को छितरा बीघा गांव के राधे रविदास की पुत्री काजल कुमारी से प्यार हो गया। उसके बाद दोनों ने आपस में मिलना जुलना शुरू कर दिया

गांव वालों ने कराई शादी

रविकांत रविदास सोमवार को अपने रिश्तेदार के यहां छितर बिगहा गांव पहुंचा और शादी की नीयत से प्रेमिका काजल को लेकर फरार हो गए। लड़की के स्वजनों को इस बात का शक था कि उनकी लड़की और रविकांत के बीच कुछ चल रहा है। लड़की के नहीं मिलने पर स्वजनों ने रविकांत से काजल के बारे पूछताछ की तो उसने किसी भी तरह की जानकारी होने से इंकार कर दिया। लेकिन जब रविकांत के दोस्तों ने काजल के बारे में पूछताछ की तो उसने कबूल किया कि काजल उसके पास ही है। उसने काजल को पटना में रखा है। इस बात की पुष्टि होने पर लड़की के परिवार के ने नाराजगी जताई लेकिन गांव वालों ने लड़की के परिवार को समझाया और बताया कि दोनों एक ही समुदाय के हैं इसलिए दोनों की शादी करा दी जाए। जिसके बाद लड़की के परिवार वाली राजी हो गई और शुक्रवार की रात 11 बजे गांव वालों की मौजूदगी में उन दोनों की शादी कर दी गई।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button