उत्तर प्रदेशऔरैया

प्रदेश सरकार द्वारा जारी की गई नगर निकाय चुनाव की सूची ने औरैया में सामान्य वर्ग के दावेदारों के सपनो पर फेरा पानी

औरैया नगर निकाय चुनाव की आहट के साथ ही सोमवार की देर शाम नगर निकायों का आरक्षण भी आ गया।

औरैया नगर निकाय चुनाव की आहट के साथ ही सोमवार की देर शाम नगर निकायों का आरक्षण भी आ गया।आरक्षण बढा ही अप्रत्याशित आया है।जिले में सामान्य वर्ग के दावेदारों की छुट्टी हो गई। जिले में एक नगर पालिका व छह नगर व पंचायत हैं।जिसमें एक अनारक्षित महिला के लिए व एक अनुसूचित जाति के लिए आरक्षित हुई है।जबकि चार नगर पंचायत पिछड़ा वर्ग के लिए व एक नगर पालिका भी पिछड़ा वर्ग के लिए आरक्षित हो गई है। जबकि 2017 में एक नगर पालिका व एक नगर पंचायत अनुसूचित जाति की थी और पांच नगर पंचायत अनारक्षित थी। नगर निकाय चुनाव की आहट पर एक नगर पालिका औरैया से लेकर जिले की छह नगर पंचायत चुनाव में पिछड़ा वर्ग के दावेदारों की लंबी चौड़ी सूची थी और त्योहारों पर होर्डिंग्स पट गई थी।बेसब्री से इंतजार था तो बस आरक्षण का।सोमवार की देर शाम आये आरक्षण ने सामान्य वर्ग के प्रत्याशियों की छुट्टी कर दी। इस बार के आरक्षण में औरैया नगर पालिका पीछड़ा वर्ग इसके अलावा चार नगर पंचायत दिबियापुर, फफुंद,अटसु व अछल्दा भी पीछड़ा वर्ग के लिए आरक्षित हो गई हैं। बाबरपुर अजीतमल नगर पंचायत अनुसूचित जाति के लिए और बिधूना नगर पंचायत अनारक्षित महिला के लिए आरक्षित हुई। ऐसे में सामान्य वर्ग के लोगों की उम्मीद टूट गई है। सामान्य वर्ग के प्रत्याशी निस आरक्षण ओर सवाल उठा रहे हैं बौर आपत्ति दर्ज कराने की बात कह रहे हैं। आयोग ने आपत्ति दर्ज कराने की अंतिम तिथि 12 दिसम्बर तय की है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button