क्राइम न्यूज़

दलित की बरात चढ़त के दौरान हुए विवाद में दूल्हे के भाई समेत अन्य बरातियों को पीटा

फार्म हाउस में पहुंच गए और बरातियों को पकड़ कर मारपीट शुरू कर दी।

गांव चिटहेरा निवासी गोपाल की बेटी की बरात मेरठ से रविवार की शाम को आई थी। बरात में चढ़त के दौरान नाचने के दौरान गांव के कुछ युवकों ने फब्तियां कसीं तो दोनों पक्षों में कहासुनी हो गई, जिसके बाद गांव के युवक जीटी रोड स्थित कृष्णा फार्म हाउस में पहुंच गए और बरातियों को पकड़ कर मारपीट शुरू कर दी। कोतवाली दादरी क्षेत्र के गांव चिटहेरा में बरात चढ़त के दौरान बरातियों का गांव के कुछ युवकों से विवाद हो गया। उस दौरान मामला शांत करा दिया गया लेकिन बाद में गांव के युवकों ने विवाह स्थल पर पहुंचकर दूल्हे के भाई सहित अन्य बारातियों से मारपीट कर दी, जिसमें तीन-चार युवक घायल हो गए। सूचना पाकर पहुंची पुलिस को देख आरोपी फरार हो गए। आरोपियों पर जाति सूचक शब्द इस्तेमाल करने और अपमानित करने का भी आरोप है। वधु पक्ष की तरफ से राहुल आर्यन उर्फ शीषपाल ने पुलिस को तहरीर दी है।
पुलिस के अनुसार गांव चिटहेरा निवासी गोपाल की बेटी की बरात मेरठ से रविवार की शाम को आई थी। बरात में चढ़त के दौरान नाचने के दौरान गांव के कुछ युवकों ने फब्तियां कसीं। इस बात पर दोनों पक्षों में कहासुनी हो गई, जिसके बाद गांव के युवक जीटी रोड स्थित कृष्णा फार्म हाउस में पहुंच गए और बरातियों को पकड़ कर मारपीट शुरू कर दी। मारपीट को देख दूल्हे का भाई दौड़ कर आया और मारपीट करने का कारण पूछा तो आरोपियों ने उसको भी पकड़ और मारपीट कर जमीन पर गिरा दिया, जिससे बरातियों में भगदड़ मच गई। मारपीट में तीन चार बरातियों को लात घूसों की चोट लग गई।

बीच-बचाव करने आए लोगों को भी पीटा

इस बीच गांव के शीशपाल पिट रहे लोगों के बचाव में आए तो आरोपी उन्हें भी पीटने लगे और जातिसूचक शब्दों का प्रयोग कर धक्का मुक्की कर अभद्रता का व्यावहार किया। घटना की सूचना पुलिस को दी गई। सूचना पाकर पहुंची को देख गांव के युवक फरार हो गए। पुलिस ने मारपीट करने वालो को फार्म हाउस में तलाश किया। लेकिन वह नहीं मिले। उसके बाद बरातियों को समझा बुझा कर मामला शांत कराया गया। घटना की तहरीर पुलिस को दी गई है। प्रभारी निरीक्षक संजीव कुमार विश्नोई का कहना है कि बरात में मारपीट की सूचना मिली थी। पुलिस ने पहुंच कर मामला शांत करा दिया।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button