उत्तर प्रदेशगोंडादेशब्रेकिंग न्यूज़

गोंडा में उफान पर घाघरा बाढ़ के हालात बेकाबू, प्रशासन से मदद का इंतजार

गोंडा जनपद के दो तहसील क्षेत्रों में बाढ़ के हालात बेकाबू होते जा रहे हैं। अपैक्स न्यूज़ इंडिया के कैमरे से लाइव बाढ़ की त्रासदी देखें, तरबगंज तहसील के 70 मजरों में बाढ़ के अलावा करनैलगंज के कई गांवों के 30 मजरों में बाढ़ का पानी भर गया है।

गोंडा जनपद के दो तहसील क्षेत्रों में बाढ़ के हालात बेकाबू होते जा रहे हैं। अपैक्स न्यूज़ इंडिया के कैमरे से लाइव बाढ़ की त्रासदी देखें, तरबगंज तहसील के 70 मजरों में बाढ़ के अलावा करनैलगंज के कई गांवों के 30 मजरों में बाढ़ का पानी भर गया है। सरयू का जलस्तर खतरे के निशान से करीब 90 सेंटीमीटर ऊपर पहुंच गया है। बतादें कि जिले में बाढ़ प्रभावित गांवों की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है। गांवों में करीब छह फीट तक पानी भरा है। जिससे छप्पर व फूस के तमाम घर डूब चुके हैं। करीब दो दर्जन से अधिक गांव ऐसे हैं जो बाढ़ से बुरी तरह प्रभावित हैं। जिले का गांव नकहरा सबसे ज्यादा बाढ़ से प्रभावित है। इस ग्राम पंचायत में करीब 30 मजरे हैं। वहीं सीजन के अंत में इतने बड़े डिस्चार्ज से सरयू नदी लाल निशान से 80 सेंटीमीटर ऊपर बह रही है।

जानकारों की मानें तो इतना अधिक पानी छोड़े जाने से जलस्तर खतरे के निशान से एक मीटर से अधिक ऊपर जा सकता है, करनैलगंज तहसील के तीन गांवों के 15 मजरे बाढ़ से प्रभावित हैं। नकहरा के नौ मजरे जिसमें राधेपुरवा, तीरथरामपुरवा, पुहिलपुरवा, बसंतलालपुरवा, मोछारनपुरवा, दुलारेपुरवा, छंगूलालपुरवा, संभरपुरवा, देवकिशुनपुरवा शामिल हैं।

रिपोर्टर – अमित कुमार श्रीवास्तव

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button