विदेश

नवीनतम आंकड़ों के अनुसार, ये मामले 2021 में संयुक्त अरब अमीरात में दर्ज किए गए 648 तलाकों में से एक थे।

शादी के बंधन में बंधते समय कपल एक दूसरे के साथ सात जन्मों तक साथ देने की कसमें खाते हैं, लेकिन संयुक्त अरब अमीरात में तलाक की एक अजीब घटना सामने आई है

शादी के बंधन में बंधते समय कपल एक दूसरे के साथ सात जन्मों तक साथ देने की कसमें खाते हैं, लेकिन संयुक्त अरब अमीरात में तलाक की एक अजीब घटना सामने आई है। शादी के बंधन में बंधने के ठीक एक दिन दोनों का तलाक हो गया। यह यूएई के इतिहास में सबसे छोटी शादी है। वहीं, एक प्रवासी जोड़ा जो 47 साल बाद अलग हुआ, सबसे लंबी पंजीकृत शादी है। यूएई के न्याय मंत्रालय (MoJ) द्वारा जारी नवीनतम आंकड़ों के अनुसार, ये मामले 2021 में संयुक्त अरब अमीरात में दर्ज किए गए 648 तलाकों में से एक थे। आंकड़ों से पता चला कि इनमोें से 311 तलाक के मामले में अमीरात के स्थानीय जोड़ों के हैं। वहीं, 194 मामले प्रवासियों के हैं।  MoJ के अनुसार, पिछले वर्ष के दौरान उन अमीरात में पंजीकृत विवाहों की कुल संख्या 4,542 थी। शादी के 47 साल बाद एक कपल ने दी तलाक की अर्जी अधिकारियों ने कहा कि इनमें से कुछ शादियां एक दिन से लेकर 15 दिनों तक चलीं क्योंकि जोड़ों ने शादी में एक महीना बिताने से पहले ही विभिन्न कारणों से तलाक के लिए अर्जी दी। अधिकारियों ने तलाक के वैसे भी कई मामले भी दर्ज किए जहां जोड़ों ने अलग होने से पहले शादी में लंबा समय बिताया था। इनमें एक प्रवासी जोड़ा भी शामिल था, जिसने शादी के 47 साल बाद तलाक के लिए अर्जी दी। कई अन्य जोड़ों ने 30 साल से अधिक समय तक शादी में रहने के बाद तलाक ले लिया।
तलाक के क्या हैं कारण? यूएई में पारिवारिक सलाहकारों और मनोवैज्ञानिकों ने बेवफाई याों, प्रतिबद्धता की कमी, शारीरिक और मौखिक दुर्व्यवहार, सोशल मीडिया और पति-पत्नी में से किसी एक द्वारा जिम्मेदारियों को निभाने में विफलता को संयुक्त अरब अमीरात में जल्दी से होने वाले तलाकों के मुख्य कारण बताए हैं। एडवांस क्योर के साथ काम कर रहे क्लिनिकल साइकोलॉजिस्ट डॉ. डॉली हबल ने पहले खलीज टाइम्स को बताया था कि शादी और जिम्मेदारी के प्रति प्रतिबद्धता की कमी के कारण कई शादियां तलाक के साथ खत्म हो जाती हैं।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button