मनोरंजन

‘गली बॉय’ के मशहूर रैपर की कार एक्सीडेंट में मौत

एमसी तोड़फोड़ (MC TodFod) के नाम से मशहूर रैपर धर्मेश परमार (Rapper Dharmesh Parmar) की कार एक्सीडेंट में मौत हो गई है.

अगर आपको रैपर्स काफी पसंद हैं तो आपके लिए एक दिल दहला देने वाली खबर आई है. जी हां, रणवीर सिंह (Ranveer Singh) की फिल्म ‘गली बॉय’ (Gully Boy)  में अपनी आवाज देने वाले एक मशहूर रैपर का निधन हो गया है. जी हां, एमसी तोडफोड के नाम से मशहूर धर्मेश परमार (Rapper Dharmesh Parmar) की कार एक्सीडेंट में मौत हो गई है. धर्मेश परमार स्वदेशी नाम के सिंगिंग बैंड का हिस्सा थे.

गली बॉय में दी थी आवाज

एमसी तोड़फोड़ (MC TodFod) के नाम से मशहूर रैपर धर्मेश परमार (Rapper Dharmesh Parmar) का निधन हो गया है. वह सिर्फ 24 साल के थे. धर्मेश मुंबई के स्ट्रीट रैपर्स कम्युनिटी के जाने माने नामों में से एक थे. अपने गुजराती रैप (Gujarati Rap) के लिए एमसी तोड़फोड़ काफी ज्यादा मशहूर थे. कुछ साल पहले धर्मेश ने रणवीर सिंह (Ranveer Singh) की फिल्म ‘गली बॉय‘ (Gully Boy) के साउंडट्रैक में से एक ट्रैक के लिए अपनी आवाज दी थी. वह स्वदेशी नाम के सिंगिंग बैंड का हिस्सा थे. इस बैंड ने उनकी मौत की पुष्टि की है. कहा जा रहा है कि एमसी तोडफोड यानी धर्मेश परमार की कार एक्सीडेंट में मौत हो गई है. हालांकि उनकी मौत की वजह के बारें में उनके परिवार या बैंड की तरफ से आधिकारिक पुष्टि नहीं की गई है.

21 मार्च को हुआ अंतिम संस्कार

सोमवार 21 मार्च को एमसी तोड़फोड़ पर अंतिम संस्कार हुआ. इस बात की जानकारी देते हुए उनके बैंड स्वदेशी ने अपने इंस्टाग्राम अकाउंट पर एक पोस्ट शेयर किया और इसी के साथ साथ अपने खास अंदाज में उन्होंने रैपर एमसी तोडफोड को श्रद्धांजलि भी दी हैं. दरअसल हाल ही में हुए ‘स्वदेशी मेला’ में एमसी तोड़फोड़ ने की हुई परफॉर्मेंस का वीडियो पोस्ट करते हुए उन्हें यह श्रद्धांजलि दी गई हैं. यह परफॉर्मेन्स उनका आखिरी परफॉर्मेंस साबित हुआ.

लोगों ने जताया दुख

स्वदेशी की हुई इस श्रंद्धांजलि के नीचे लोकप्रिय रैपर रफ्तार ने कमेंट किया है. प्रणाम इमोजी के साथ रफ्तार ने इस बात का दुख जताया है कि यह टैलेंटेड सिंगर काफी जल्दी इस दुनिया से चले गए. अपने करियर में धर्मेश परमार ने कई इंटरनेशनल सिंगिंग परफॉर्मेंसेस भी दिए थे. हालांकि सोशल मीडिया पर वह ज्यादा एक्टिव नहीं थे लेकिन उनके गाने लोगों को खूब पसंद आते थे. एमसी तोड़फोड़ की मौत पर सिद्धांत चतुर्वेदी और रणवीर सिंह ने भी दुख जताया है.

स्वदेशी बैंड चलाते थे धर्मेश

मुंबई के बीडीडी चाल में रहने वाले एमसी तोड़फोड़ की सोच काफी अलग थी. अपने विचारों की वजह से ही उन्होंने रैप करने के बारें में सोचा. उनके रैपिंग स्टाइल को ‘कॉन्शियस रैपिंग स्टाइल’ कहते हैं क्योंकि उनके गाने लोगों की सोच पर आधारित थे. उनका परिवार उन्हें क्रन्तिकारी रैपर मानते थे. राजीव दीक्षित (Rajiv Dixit) को धर्मेश अपना आइडल मानते थे और उनकी बातों को सुनने के बाद उन्होंने ‘स्वदेशी’ बैंड की शुरुआत की थी.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button