देशब्रेकिंग न्यूज़

गर्मी के ताप से बचने को लोगों ने किया पहाड़ों का रुख

सप्ताहांत पर उत्तराखंड के पर्यटक स्थल सैलानियों से पैक रहे। मसूरी नैनीताल देहरादून धनोल्टी लैंसडोन और टिहरी में बड़ी संख्या में पर्यटक उमड़ रहे हैं

आसमान से बरस रही आग के कारण अधिकतम पारा चढ़ने से बेहाल लोग पर्यटन स्थलों का रुख कर रहे हैं। इस वीकेंड पर तीन दिन के अवकाश के चलते जम्मू संभाग के ऊधमपुर जिले में स्थित प्रसिद्ध पर्यटन स्थल पत्नीटाप सैलानियों से गुलजार है। पत्नीटाप में सभी होटल लगभग जैमपैक (फुल) हैं। अन्य राज्यों से भी सैलानी यहां पहुंच रहे हैं। वहीं, पर्यटकों की भीड़ के चलते उत्तराखंड के मसूरी और हरिद्वार में लंबा जाम लग जा रहा है।

शनिवार को राजस्थान और महाराष्ट्र से सैलानियों के समूह जम्मू के पत्नीटाप पहुंचे थे। इससे पत्नीटाप में काफी ज्यादा भीड़ हो गई। पत्नीटाप के अलावा नत्थाटाप और सनासर में भी बड़ी संख्या में सैलानी पहुंचे हैं। इससे पत्नीटाप सर्कुलर मार्ग और सनासर मार्ग पर बीच-बीच में थोड़ा बहुत जमा देखने को भी मिला।

वहीं, पत्नीटाप में भी सुबह 11 बजे से दोपहर तीन बजे के बीच तापमान 36 डिग्री सेल्सियस रहा। इससे यहां भी लोगों को गर्मी ने परेशान किया।

मसूरी से लेके हरिद्वार तक जाम ही जाम 

सप्ताहांत पर उत्तराखंड के पर्यटक स्थल सैलानियों से पैक रहे। मसूरी, नैनीताल, देहरादून, धनोल्टी, लैंसडोन और टिहरी में बड़ी संख्या में पर्यटक उमड़ रहे हैं। मसूरी में पर्यटकों को पांच किमी तो हरिद्वार में दो किमी लंबे जाम से जूझना पड़ा। देहरादून के सहस्रधारा में भी बड़ी संख्या में पर्यटक पहुंचे। इसके अलावा पर्यटक स्थलों पर सैलानियों को पार्किंग की समस्या का भी सामना करना पड़ रहा है। हरिद्वार और ऋषिकेश में सोमवार को बुध पूर्णिमा का स्नान होने के कारण बड़ी संख्या में श्रद्धालु पहुंच रहे हैं।

गर्मी से राहत पाने के लिए उमड़े सैलानी

मैदानी राज्यों में गर्मी बढ़ने के साथ हिमाचल के पर्यटन स्थल सैलानियों से गुलजार हैं। तीन दिन के अवकाश का फायदा उठाने के लिए लोग हिमाचल घूमने पहुंच रहे हैं। दो दिन में ही परवाणू बैरियर से करीब 25 हजार पर्यटक वाहन प्रदेश में आए हैं। रविवार को मनाली में 2500 से अधिक पर्यटक वाहन पहुंचे। 2000 पर्यटक वाहन दूसरे राज्यों से व 500 से अधिक हिमाचल के विभिन्न जिलों से मनाली आए। शिमला आने वाली सभी रेलगाडि़यां भी 10 जून तक बुक हो गई हैं।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button