लाइफस्टाइल

मोटापा कई गंभीर बीमारियों का कारण बन सकता है।; जानिए वजन कम करने के तरीके

मोटापा कई गंभीर बीमारियों का कारण बन सकता है। इससे न केवल दिल की बीमारी और डायबिटीज का खतरा होता है,

Advertisements
AD

मोटापा कई गंभीर बीमारियों का कारण बन सकता है। इससे न केवल दिल की बीमारी और डायबिटीज का खतरा होता है, बल्कि स्त्री रोग होने की संभावना भी बढ़ जाती है। हाल ही में ब्रिटेन में हुई एक रिसर्च में वैज्ञानिकों ने कहा है कि मोटापे से महिलाओं को प्रजनन स्वास्थ्य से जुड़ी समस्याएं भी हो सकती है।

ऐसे हुई रिसर्च

  • इस रिसर्च में वैज्ञानिकों ने मोटापे और प्रजनन स्वास्थ्य से जुड़े विकारों के बीच संबंध ढूंढने की कोशिश की।
  • उन्होंने 2,57,193 महिलाओं को इस रिसर्च में शामिल किया।
  • ये सभी यूरोपियन थीं और इनकी उम्र 40 से 69 साल के बीच थी।
  • इनके हेल्थ डेटा को यूके बायोबैंक की मदद से जांचा गया।
  • वैज्ञानिकों ने एक ऐसा मॉडल बनाया, जिसके जरिए महिलाओं के बॉडी मास इंडेक्स (BMI) और कमर से हिप के रेशियो का महिलाओं के प्रजनन स्वास्थ्य पर पड़ने वाले असर को समझा गया।

ये कहते हैं रिसर्च के नतीजे

  • रिसर्च में मोटापे और प्रजनन स्वास्थ्य संबंधी कई विकारों के बीच कनेक्शन पाया गया।
  • इसमें पॉलीसिस्टिक ओवरी सिंड्रोम (PCOS), माहवारी में ब्लीडिंग, गर्भाशय फाइब्रॉइड और प्रि-एक्लेमप्सिया शामिल हैं।
  • PCOS एक हॉर्मोनल डिसऑर्डर है जिसमें महिलाओं को माहवारी से जुड़ी परेशानियां होती हैं। इसमें अनियमित ब्लीडिंग, पीरियड देर से आना, चेहरे पर बाल बढ़ना आदि शामिल हैं।
  • गर्भाशय फाइब्रॉइड की स्थिति में महिला के गर्भाशय में गांठ बनने लगती है। हालांकि यह कैंसर से रिलेटेड नहीं होती।
  • प्रि-एक्लेमप्सिया एक ऐसी कंडीशन है जिसमें हाई ब्लड प्रेशर के कारण प्रेग्नेंसी में कॉम्प्लिकेशन्स आते हैं।

वजन कम करने के तरीके

  • जंक फूड और सॉफ्ट ड्रिंक्स की जगह हेल्दी चीजों को अपनी डाइट में शामिल करें। सीजनल फल, सब्जियां, अनाज, नट्स, सीड्स और हेल्दी फैट से स्वास्थ्य बेहतर और वजन कंट्रोल होता है। इसके साथ ही शरीर में पानी की कमी न होने दें।
  • एक्सरसाइज वजन कम करने के लिए बेहद जरूरी है। विशेषज्ञों के अनुसार, हर हफ्ते 150 मिनट हाई इंटेंसिटी एक्सरसाइज करनी चाहिए। इसके साथ ही दूसरी शारीरिक गतिविधियां भी करते रहें।
  • नींद पूरी करें। जब आपकी नींद पूरी नहीं होती तब अनहेल्दी खाना खाने की संभावना ज्यादा होती है। नींद पूरी होने पर आपका शरीर भी अच्छे से काम करता है।
  • स्ट्रेस से दूर रहे। मोटापे और स्ट्रेस के बीच बहुत बड़ा कनेक्शन है। कार्टिसोल नाम का स्ट्रेस हॉरमोन आपके पेट में चर्बी बढ़ाता है। स्ट्रेस मैनेज करने के लिए योगा और मेडिटेशन कर सकते हैं।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button