विदेश

कोरियाई विदेश मंत्री ने जयशंकर को फोन कर खेद जताया, कंपनी ने कश्मीर पर विवादित पोस्ट की थी

कश्मीर पर साउथ कोरियन कंपनी हुंडई के सोशल मीडिया पोस्ट को लेकर साउथ कोरिया के विदेश मंत्री चुंग यूई-योंग ने मंगलवार को फोन पर भारत से माफी मांग ली है।

कश्मीर पर साउथ कोरियन कंपनी हुंडई के सोशल मीडिया पोस्ट को लेकर साउथ कोरिया के विदेश मंत्री चुंग यूई-योंग ने मंगलवार को फोन पर भारत से माफी मांग ली है। विदेश मंत्रालय ने इसकी जानकारी दी है। उधर, साउथ कोरिया की राजधानी सियोल में भारत के राजदूत ने भी हुंडई मुख्यालय से इस मामले में स्पष्टीकरण मांगा है।

इस बीच, यह विवाद अब और भी बड़ा हो गया है। अब इसकी जद में KFC, DOMINOS, पिज्जा हट, ओसाका बैटरी, आईसुजु डी-मैक्स, बॉश फार्मास्यूटिकल्स, एटलस होंडा लिमिटेड और किआ मोटर्स भी आ गई हैं। सोशल मीडिया पर इन सभी कंपनियों के पाकिस्तानी सोशल मीडिया हैंडल से भी 5 फरवरी को कश्मीर सॉलिडेरिटी डे पर किए गए पोस्ट वायरल हो रहे हैं। इसके बाद इनके भी बायकॉट की मांग शुरू हो गई है। इन कंपनियों ने भी अब माफी मांगनी शुरू कर दी है।

क्या है पूरा मामला? पाकिस्तान की तरफ से 5 फरवरी को कथित ‘कश्मीर सॉलिडेरिटी डे’ मनाए जाने पर हुंडई पाकिस्तान ने एक ‘ना-पाक’ ट्वीट किया था। इस ट्वीट में पाकिस्तान का समर्थन किया गया था। ट्वीट में कश्मीर की आतंकी हिंसा को आजादी की लड़ाई बताया गया था। इस ट्वीट के बाद सोशल मीडिया यूजर्स ने हुंडई मोटर्स को जमकर ट्रोल किया था। इसके बाद विवादित ट्वीट को तत्काल हटा लिया गया था, लेकिन इसके स्क्रीन शॉट्स सोशल मीडिया पर अब भी वायरल हो रहे हैं।

विदेश मंत्रालय ने दी माफी मांगने की जानकारी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अरिंदम बागची ने बताया कि कश्मीर सॉलिडेरिटी डे के मौके पर हुंडई पाकिस्तान के पोस्ट की जानकारी मिलने के तुरंत बाद सियोल में हमारे राजदूत ने हुंडई मुख्यालय से संपर्क किया और इस विषय पर स्पष्टीकरण मांगा। बागची ने बताया कि इस पोस्ट को कुछ ही देर बाद हटा लिया गया था, लेकिन तब तक ये सोशल मीडिया पर वायरल हो चुका था।

उन्होंने बताया, भारतीय विदेश मंत्रालय ने इस मुद्दे पर कोरियाई राजदूत को 7 फरवरी को तलब किया गया था। उन्हें हुंडई पाकिस्तान की सोशल मीडिया पोस्ट पर भारत की कड़ी नाराजगी की जानकारी दी गई। साथ ही कंपनी से इस मुददे पर सख्त कार्रवाई करने की बात कही गई थी, जिससे यह एक मिसाल बन सके।

बागची ने बताया कि इसके बाद कोरिया गणराज्य के विदेश मंत्री चुंग यूई-योंग ने आज सुबह विदेश मंत्री जयशंकर को फोन किया। इस दौरान दोनों के बीच कई अहम मुद्दों पर चर्चा हुई। इस बातचीत के दौरान कोरियाई विदेश मंत्री ने कहा कि कंपनी की पाकिस्तान इकाई की ओर से की गई पोस्ट के लिए हमें खेद है और हमें दुख है कि लोगों की भावनाएं आहत हुईं।

हुंडई इंडिया ने भी मांगी थी माफी इससे पहले Hyundai Motors की इंडिया यूनिट ने भी एक बयान जारी कर इस मामले पर दुख जताया था और माफी मांगी थी। कंपनी ने साफ तौर पर कहा कि वह राजनीतिक या धार्मिक मुद्दों पर टिप्पणी नहीं करता है। बता दें कि भारत विभिन्न क्षेत्रों में विदेशी कंपनियों में निवेश करता है। साथ ही यह उम्मीद भी करता है कि कंपनियां या उनके सहयोगी संप्रभुता और क्षेत्रीय अखंडता के मामलों पर झूठी और भ्रामक टिप्पणियों से परहेज करेंगे।

KFC और DOMINOS की तरफ से भी मांगी गई माफी ट्वीट करने वाली कंपनियों में से हुंडई के बाद दूसरी कंपनियों ने भी माफी मांगनी शुरू कर दी है। पहले KFC और अब DOMINOS ने सोशल मीडिया पर पोस्ट कर माफी मांगी है। KFC ने लिखा- देश के बाहर KFC के कुछ सोशल मीडिया चैनल्स से किए गए पोस्ट के लिए हम माफी मांगते हैं। हम भारत का सम्मान करते हैं और गर्व के साथ सभी भारतीयों की सेवा करने की अपनी प्रतिबद्धता पर कायम हैं।

Dominos ने लिखा- यह (भारत) वो देश है, जिसे हम 25 साल से अपना दूसरा घर मानते रहे हैं और हम इसकी विरासत की रक्षा के लिए हमेशा खड़े रहे हैं। हमें इस देश ने जो कुछ भी दिया है, हम उसका सम्मान करते हैं।

भारत में Dominos के 1,313 आउटलेट मौजूद हैं।

कश्मीरी नकार चुके हैं पाकिस्तानी एजेंडा पाकिस्तान कश्मीर को लेकर लगातार प्रोपेग्रैंडा फैलाने की कोशिश कर रहा है, लेकिन दुनिया के साथ-साथ आम कश्मीरी भी उसका सपोर्ट नहीं कर रहे हैं। 5 फरवरी को जब पाकिस्तान कश्मीर सॉलिडेरिटी डे मना रहा था, उस दिन ही कश्मीरी युवा ने सोशल मीडिया पर लिखा- डियर वर्ल्ड, हम कश्मीरी अपने देश भारत के साथ खुश हैं, लेकिन पाकिस्तान और कुछ पाकिस्तानी कठपुतलियां हमारी खुशी से खुश नहीं हैं।

चीन की चौखट पर भी दस्तक दे चुके हैं इमरान

इमरान विटंर ओलिंपिक की ओपनिंग सेरेमनी में शामिल होने बीजिंग पहुंचे थे। यहां पर भी उन्होंने चीन के सामने कश्मीर राग अलापा था।

पाकिस्तान ने कश्मीर के लिए नापाक मंसूबे लेकर चीन की चौखट पर भी दस्तक दी थी, लेकिन यहां भी उसे सिर्फ एक बयान और आश्वासन ही मिला। पाक PM इमरान खान ने कश्मीर मुद्दे को चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग के सामने भी उठाया था। जिस पर चीन की तरफ से कहा गया कि कश्मीर मुद्दा इतिहास का बचा हुआ विवाद है, जिसे संयुक्त राष्ट्र चार्टर, सुरक्षा परिषद के प्रस्तावों और द्विपक्षीय समझौतों के आधार पर शांति से हल किया जाना चाहिए।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button