स्वास्थ्य

इस साल इन चार बीमारियों ने किया खूब परेशान

यह साल कई राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय घटनाओं के लिए याद किया जाता रहेगा। सेहत के नजरिए से बात करें तो एक तरफ जहां पिछले तीन साल से जारी कोरोना महामारी की रफ्तार में इस साल कमी देखी गई वहीं कुछ गंभीर और संक्रामक बीमारियों ने लोगों को खूब परेशान किया

कोविड-19: तीसरी लहर की रफ्तार रही हल्की दिसंबर 2019 में वैश्विक स्तर पर फैली कोरोना महामारी का असर इस साल भी जारी रहा, हालांकि इसकी गंभीरता कम देखी गई। साल की शुरुआत से ही ओमिक्रॉन वैरिएंट काफी प्रभावी रहा, जिसके कारण जनवरी-फरवरी में संक्रमण की तीसरी लहर देखने को मिली, हालांकि संक्रमण के लक्षण और गंभीरता काफी कम रही। मंकीपॉक्स मे बढ़ाई मुश्किलें कोरोना के जारी संक्रमण के बीच मंकीपॉक्स संक्रमण का खतरा भी इस बार देखने को मिला। आमतौर पर अफ्रीका के जंगली इलाकों में फैलने वाले इस संक्रमण का असर इस साल दुनिया के कई देशों में देखने को मिला। यूरोपीय देशों के साथ भारत में भी इसके मामले रिपोर्ट किए गए। 14 जुलाई को पहली बार भारत में इस संक्रमण के मामले की पुष्टि केरल में की गई। बच्चों में दिखा टोमैटो फ्लू का खतरा छोटे बच्चों में इस संक्रमण का जोखिम अधिक होता है, जिसमें संक्रमित बच्चों में तेज बुखार, जोड़ों में दर्द के साथ त्वचा पर लाल रंग के फफोले देखे जाते हैं। इस संक्रामक रोग के कारण अस्पतालों में तेजी से भीड़ बढ़ने लगी हालांकि समय रहते इसके संक्रमण को कंट्रोल कर लिया गया हार्ट अटैक-कार्डियक अरेस्ट का जोखिम
साल 2022 में जिस समस्या ने सबसे अधिक लोगों को प्रभावित किया वह है- हार्ट अटैक-कार्डियक अरेस्ट का खतरा। इस साल लोगों में सडेन हार्ट अटैक के मामले आश्चर्यजनक रूप से काफी अधिक देखे गए। खतरा कम उम्र के लोगों में भी बरकरार है। शादी-उत्सवों के दौरान हार्ट अटैक, काम करते हुए दिल का दौरा पड़ने के कारण कई लोगों की मौत हुई। यह जोखिम अब भी बना हुआ है।
 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button