स्वास्थ्य

घर पर चेक करते है ब्लड प्रेशर तो सही लेवल जांचने के लिए इन बातों का ध्यान रखें

डेली हेल्थ चेपअप (Health check-up) रूटीन भी इसी का एक हिस्सा है. आज डायबीटिज नापने से लेकर ब्लड प्रेशर (Blood pressure) का लेवल पता लगाने तक सभी चीजें घर पर ही हो जाती हैं.

. हालांकि कई लोग जानकारी के अभाव में बीपी नापते समय कुछ अहम बातों को नजरअंदाज कर देते हैं, जिसके चलते उनकी हेल्थ (Health) प्रभावित होती है. इसलिए बीपी नापते समय पोजीशन, टाइमिंग और रीडिंग का खास ख्याल रखना बेहद जरूरी होता है.

ज्यादातर लोग अपनी रोजमर्रा की जिंदगी में हेल्थ (Health) से जुड़ी कुछ आम प्रॉब्लम्स को नजरअंदाज कर देते हैं. ब्लड प्रेशर (Blood Pressure) की समस्या भी इन्ही में से एक है. आमतौर पर हाई और लो ब्लड प्रेशर की दिक्कत से जूझ रहे लोग रोज डॉक्टर्स के पास चेक-अप करवाने नहीं जा पाते हैं. ऐसे में वो घर पर ही ब्लड प्रेशर चेक करने के लिए बीपी मॉनिटर मशीन (Machine) की सहायता लेते हैं. हालांकि, ऐसे में बीपी से जुड़ी कुछ खास बातों का ध्यान रखना बेहद जरूरी हो जाता है. दरअसल, जब आप घर पर ब्लड प्रेशर नापते हैं तो कई बार बीपी नापने पर सही लेवल का पता नहीं चल पाता है. ऐसे में कुछ अहम बातों को नजरअंदाज करना अपने स्वास्थ्य के साथ समझौता करने जैसा होता है. तो आइए हम आपको बताते हैं कि बीपी नापते हुए किन बातों का खास ख्याल रखना जरूरी है. चेक करें मशीन बीपी नापते समय सबसे पहले बीपी मॉनिटर को अच्छे से चेक कर लें और उसकी बैटरी की भी जांच कर लें. साथ ही कम से कम दो बार बीपी की जांच करें. जिससे कि रीडिंग बिल्कुल सही आए और आप उसी के मुताबिक अपना ट्रीटमेंट करा सकें. आराम से बैठें बीपी नापने से पहले लगभग 10 मिनट तक किसी जगह पर आराम से बैठ जाएं. इससे आपको बीपी के सही लेवल का पता चल सकेगा. वहीं चलने और दौड़ने के तुरंत बाद बीपी नापने से सही रीडिंग नहीं मिल पाती है और आप बिना वजह परेशान हो जाते हैं. दिल के लेवल पर हो मशीन बीपी नीपते समय, बीपी नीपने की मशीन यानी बीपी मॉनिटर को दिल के बराबरी पर ही रखें. इससे आपको आसानी से ब्लड प्रेशर के लेवल का सही माप मिल जाएगा. ऐसे बांधे पट्टा कई लोग बीपी नापते समय पट्टे को कपड़े के ऊपर से ही लगा लेते हैं. हालांकि, इससे बीपी के लेवल का सही स्कोर पता नहीं चल पाता है. इसलिए कोशिश करें कि बीपी नापते समय बाएं हाथ का उपयोग करें और पट्टे को हाथों की त्वचा पर बांधे. ये गलतियां करने से बचें बीपी नापते समय खांसी, छींक या पोजीशन बदलने से बचें. इससे आपकी सांसों की गति तेज हो जाती है और बीपी की रीडिंग गलत आ सकती है. इसलिए अगर बीपी नापने के दौरान खांसी और छींक आती है, तो कुछ समय बाद फिर से बीपी नाप लें  

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button