क्राइम न्यूज़

दिल्ली में चोरी के मोबाइल फोन खरीदने वाले अंतरराष्ट्रीय गैंग का भंडाफोड़,

पुलिस गिरोह से जुड़े अन्य बदमाशों व खरीदारों की तलाश कर रही है।

दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच ने दिल्ली-एनसीआर से चोरी और झपटमारी के मोबाइल खरीदने वाले अंतरराष्ट्रीय गिरोह का भंडाफोड़ करते हुए तीन बदमाशों को गिरफ्तार किया है। पुलिस ने इनके कब्जे से चोरी के 261 मोबाइल फोन बरामद किए हैं। इन मोबाइल के 67 यूजर्स का पता भी लगा लिया है। इनमें से 16 लोगों ने दिल्ली के विभिन्न थाने में मामले दर्ज करा रखे हैं। पुलिस गिरोह से जुड़े अन्य बदमाशों व खरीदारों की तलाश कर रही है। गिरफ्तार आरोपियों में करोल बाग स्थित रेगरपुरा निवासी कुलदीप उर्फ लाला, संगम विहार निवासी सतनाम और सूरज दत्त शामिल हैं। क्राइम ब्रांच ने बताया कि सूचना मिली थी कि कुछ रिसीवर चोरी के मोबाइल लेकर करोल बाग से कोरियर द्वारा नेपाल और बांग्लादेश में भेज रहे हैं। यह भी पता चला कि यह गिरोह 50 से अधिक मोबाइल फोन की खेप कोलकाता और नेपाल के माध्यम से बांग्लादेश भेजने में लगा है। जांच में जानकारी मिली कि आरोपी रिसीवर कुलदीप उर्फ लाला आपराधिक मामले में भी शामिल है। उस पर नजर रखने वाली पुलिस टीम ने सूचना के आधार पर उसे करोल बाग में उस समय पकड़ लिया, जब वह काले रंग की स्कूटी से चोरी के 100 मोबाइल फोन लेकर निकला था। पुलिस ने उसके पास मोबाइल और वारदात में इस्तेमाल स्कूटी कब्जे में ले ली है। पूछताछ के बाद सतनाम और सूरज दत्त को भी दबोच लिया। इनके पास से छह फोन बरामद किए गए। फिर टीम द्वारा जहांगीरपुरी इलाके में जुनैद के घर से 104 मोबाइल बरामद किए गए। ऐसे शुरू हुआ धंधा : आरोपी कुलदीप ने खुलासा किया कि 2015 से चोरी के मोबाइल बेचने/खरीदने में लिप्त था। लगभग तीन साल पहले वह करोल बाग की चाइना मार्केट के एक होटल में एक व्यक्ति के संपर्क में आया, जिसने उसे मोबाइल की आपूर्ति के लिए अग्रिम पैसे दिए, तय हुआ कि वह मोबाइल लेने के लिए एजेंट को भेजेंगे। वह मालवीय नगर, दिल्ली और साहिबाबाद, निवासी अमित और दीपक नामक दो व्यक्तियों से चोरी का फोन खरीदता था।  

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button