उत्तर प्रदेशललितपुर

ललितपुर में आज व्यापारियों ने किया सदर विधायक और राज्य मंत्री के आबास पर घिराव

ललितपुर:जिले की तहसील हो या जिले का मुख्य सदर बाजार,यहां पर जीएसटी की छापेमारी को देखते हुए जहां एक और बड़े दुकानदार अपनी शटरडॉउन किए हुए हैं तो वहीँ छोटे दुकानदार बेफिक्र होकर अपनी दुकानदारी चला रहे हैं।

ललितपुर:जिले की तहसील हो या जिले का मुख्य सदर बाजार,यहां पर जीएसटी की छापेमारी को देखते हुए जहां एक और बड़े दुकानदार अपनी शटरडॉउन किए हुए हैं तो वहीँ छोटे दुकानदार बेफिक्र होकर अपनी दुकानदारी चला रहे हैं।उत्तर प्रदेश सरकार के द्वारा प्रदेश के 71 जिलों में 248 टीमें लगाकर यह छापेमारी की जा रही है जिसमें ललितपुर जिले में 4 टीमें पूरे जिले में घूम रही हैं जिले के तालबेहट ,महरौनी, मडावरा इन बड़े इलाकों में भी जीएसटी टीमें छापेमारी कर रही है वही इस छापेमारी से लोगों मे अलग-अलग प्रतिक्रियाऐ देखने को मिल रही है। जहाँ व्यापारियों में नाराजगी देखी जा रही है तो शहर के कुछ बुद्धिजीवी लोगों ने इसको सही ठहराया है और कहा है की जो लोग इस छापे मारी से डर रहे हो वह कही न कही जीएसटी चोरी कर रहे होगे जिससे सरकार को हानी पहुच रही है। सूत्रों की मानें तो यह जीएसटी की छापेमारी पूरे दिसंबर माह चलनी है यह टीमे जिले से कितनी जीएसटी चोरी पकड़पाती है यह देखने बाली बात होगी। जहां एक ओर जीएसटी की टीमें छापेमारी कर रही है तो वहीं दूसरी ओर इस छापेमारी से व्यापारियों का काफी नुकसान हो रहा है व्यापारी अपनी दुकान नहीं खोल पा रहे हैं व्यापारियों के अलग अलग संगठनो ने जिलाधिकारी से तत्काल इस छापेमारी को बंद कराने की मांग की है वही आज कुछ पत्रकार छापेमारी के संबंध में जानकारी लेने जीएसटी ऑफिस पहुंचे तो पत्रकारो के जबबो से बचते दिखे और कोई भी सीधा जबाब नही दिया और टाला मटोली करते दिखे कुर्सी पर बैठे अधीकारी पत्रकारो को जानकारी देने से बचते दिखे और कहा की समाचार पत्रो मे छप रहा है सारी जानकारी वही से ले लैं वही आज उद्योग व्यापार मंडल ललितपुर के सदर विधायक रामरतन कुशवाहा के आवास का घेराव किया तो वही राज्य मंत्री मनोहर लाल पंथ मन्नू कोरी के आवास का भी घेराव किया व्यापारियों ने बताया कि अभी हाल ही में नगर निकाय चुनाव होने हैं और इस नगर निकाय चुनाव के चलते यह छापेमारी गलत है और इस को जल्द से जल्द रोका जाना अति आवश्यक है मंत्री एवं विधायक दोनों ने आश्वासन दिया है कि सरकार से बात कर इसका जल्द से जल्द समाधान निकालेंगे,वहीं एक सबाल जब सभी व्यापारी अपने ग्राहको से जीएसटी बसूल रहे है तो इस जीएसटी की छाटेमारी से उन्हे किस बात का डर है क्यो व्यापारी इस छापे मारी का विरोध कर रहे है इस ग्रुप से यह माना जाए कि क्या यह व्यापारी जीएसटी की चोरी कर रहे हैं यह एक बड़ा सवाल है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button